डर के साए में डहाणू!

धरती के गर्भ में होनेवाली हलचल के कारण भूकंप आते हैं। बीते कुछ दिनों में मुंबई से सटे पालघर इलाके में महसूस किए जा रहे भूकंप के झटकों से मुंबई व आसपास क्षेत्र के लोग भी कुछ ऐसी ही डरे हुए हैं। रिपोर्टों के अनुसार पालघर जिला अंतर्गत आनेवाले डहाणू क्षेत्र में धरती पिछले कुछ दिनों में कई बार थर्रा चुकी है। धरती में बार-बार होनेवाली इन कंपनों से खासकर डहाणू व पालघर क्षेत्र के लोग डर के साए में जीने को मजबूर हो गए हैं। फिलहाल भूगर्भ शास्त्री, बार-बार महसूस किए जानेवाले भूकंप के झटकों की वजह जानने तथा भविष्य में इसके खतरों का आकलन करने में जुटे हैं।
२२ दिनों में ५ बार डोली धरती 
मुंबई से सटे पालघर में रविवार की रात एक बार फिर भूकंप के हल्के झटके आए, जिसका असर तलासरी से चारोटी तक हुआ।  कुछ ही मिनट के अंतराल में एक के बाद एक आए तीन झटकों ने लोगों को हिलाकर रख दिया। पिछले २२ दिनों में ५ बार-बार धरती डोल चुकी है जिससे लोग अब अपने घरों में जाने से डरने लगे हैं।
बता दें कि पालघर जिला अंतर्गत डहाणू तालुका स्थित धुंदलवाडी क्षेत्र में रविवार की रात १.३५, १.४५ और २.०५ मिनट पर भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। इन झटकों के डर के कारण धुंदलवाडी, हलदपाडा, दापचरी, शिसने, आंबोली, चींचले, नागझरी, वांकास वसा, करांजविरा, तलोटे, पुंजवा सहित तलासरी तालुका के ग्रामीणों ने रात घर के बाहर गुजारी। गौरतलब हो कि इस इलाके में इससे पहले ११ नवंबर को भी भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे। शाम ६.२५ बजे के करीब महसूस किए गए उन झटकों की तीव्रता रिक्टर स्केल  पर ३.२ आंकी गई थी। इसके बाद २४ नवंबर को शाम ३.१५ बजे के करीब एक बार फिर ३.३ तीव्रतावाले झटके इस इलाके में महसूस किए गए। हालांकि इन झटकों में कोई हताहत तो नहीं हुआ था लेकिन कुछ मकान की दीवारों में दरारें अवश्य आ गई थीं। इस क्षेत्र में लगातार महसूस किए जा रहे भूकंप के झटकों के कारण लोग अब यहां से स्थानांतरित होने लगे हैं। कुछ लोग अपने रिश्तेदारों के यहां भी जा चुके हैं।