" /> डायल १०० पर कोरोना की किचकिच, अजीबोगरीब सवालों से पुलिस परेशान

डायल १०० पर कोरोना की किचकिच, अजीबोगरीब सवालों से पुलिस परेशान

कोरोना की दहशत लोगों में कुछ इस प्रकार है कि अब लोग डॉक्टर के साथ पुलिस को भी कॉल करने लगे हैं। जरा-सा भी संदेह लगने पर लोग तुरंत डायल १०० कर पुलिस को कोरोना के संदर्भ में अजीबोगरीब सवाल पूछ रहे हैं। डायल १०० पर हो रही है इस कोरोना किचकिच से पुलिस परेशान नजर आ रही है। पुलिस के आपातकालीन नंबर डायल १०० पर जहां हमेशा झगड़ा, मारपीट, खून-खराबा व अन्य प्रकार के अपराधों के कॉल आते हैं, वहीं कुछ समय से आपराधिक कॉल की संख्या कम हुई है एवं कोरोना से जुड़े मामलों के कॉल की संख्या अचानक बढ़ गई है। सड़क पर मास्क बेचा जा रहा है, क्या यह वैध है? स्कूल बंद हैं तो अपने बच्चों को ट्यूशन भी भेजना बंद कर दूं? इस तरह के अजीबो-गरीब सवाल से पुलिस को जूझना पड़ रहा है।
अभी तक देश में सबसे अधिक कोरोना के मामले महाराष्ट्र में देखने को मिले है। इससे यहां रहनेवालों लोगों में कोरोना की वजह से डर का माहौल पैदा हो गया है। जरा-सा भी संदेह होने पर लोग पुलिस को फोन घूमा दे रहे हैं। मुंबई पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम में जहां अपराध से जुड़े कॉल आते हैं वहां पिछले कुछ दिनों से कोरोना से जुड़े कॉल आ रहे हैं। सिर्फ डायल १०० पर ही नहीं बल्कि मुंबई पुलिस के ट्विटर हैंडल पर भी कोरोना से जुड़े सवाल लोग पूछ रहे हैं। एक व्यक्ति ने पुलिस को कॉल कर पूछा कि सड़क पर विदेशी नागरिक बिना मास्क का घूम रहा है! इस परिस्थिति में क्या करें? एक ने कॉल कर पूछा कि पड़ोसवाली इमारत में एक आदमी हाल ही में विदेश से लौटा है! लेकिन यह नहीं पता कि उसने मेडिकल जांच करवाई है कि नहीं इस मामले में क्या करें? पुलिस अधिकारी ने बताया कि इन सब मामलों में पुलिसकर्मी बीएमसी एवं अस्पताल के नंबर उनको बता देते हैं और अगर जरूरत पड़ी तो खुद वहां जाते हैं। डांस क्लास क्यों नहीं बंद है! पड़ोसी घरों में बर्थडे पार्टी का आयोजन कर रहा है! क्या करूं? इस तरह के तमाम सवाल पुलिस से पूछे जा रहे हैं। कुछ प्राइवेट कंपनी के कुछ कर्मचारी ट्विटर पर अपनी शिकायतें पुलिस से कर रहे हैं, उनका कहना है कि कंपनी ने वर्क प्रâॉम होम अभी तक नहीं दिया है और ऐसे में वे क्या करें?