" /> डीके शिवकुमार लगाएंगे कमलनाथ की नैया पार!

डीके शिवकुमार लगाएंगे कमलनाथ की नैया पार!

कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमिटी के नए अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने पार्टी की कमान संभाल ली है। राज्य में उन्हें कांग्रेस के संकटमोचक के रूप में देखा जाता है। प्रदेश कांग्रेस दफ्तर पर पहुंचे शिवकुमार का पार्टी कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। एमपी के बागी कांग्रेस विधायक लंबे अरसे से बेंगलुरु में डेरा डाले हुए हैं। ऐसे में विधायकों को अपने पाले में करने के लिए शिवकुमार को भी बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।
एमपी में सियासी ड्रामा सोमवार को भी जारी रहा। राज्यपाल लालजी टंडन के संक्षिप्त अभिभाषण के बाद विधानसभा की कार्यवाही को २६ मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया। इस बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के विधायक अभी बेंगलुरु में ही हैं। डीके के नाम से मशहूर शिवकुमार को रिजॉर्ट पॉलिटिक्स का जनक भी कहा जाता है। एमपी में अभी बहुमत परीक्षण होना बाकी है। कमलनाथ सरकार फिलहाल नंबर गेम में पिछड़ती दिख रही है। बीजेपी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। बहुमत परीक्षण की तारीख फिलहाल तय नहीं है। ऐसे में शिवकुमार सियासी दांव खेल सकते हैं।

बेंगलुरु में डीके शिवकुमार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यालय पहुंचे। इस दौरान बड़ी तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता दफ्तर के बाहर जुटे। कार्यकर्ताओं ने फूल-मालाओं से शिवकुमार का जोरदार स्वागत किया। शिवकुमार ने इस दौरान पार्टी कार्यालय के बाहर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। एमपी की सरकार बचाने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी काफी गंभीर हैं। ऐसे में शिवकुमार को बागी विधायकों की घर वापसी का मिशन सौंपा जा सकता है। फिलहाल ६ विधायकों के इस्तीफे को स्पीकर एनके प्रजापति ने मंजूर किया है लेकिन अभी १६ विधायकों पर फैसला होना बाकी है। ऐसे में शिवकुमार सिंधिया के किले में सेंध लगाने के काम में जुट सकते हैं।