" /> ड्रोन से नष्ट होंगे मलेरिया मच्छरों के डंक : पर्यावरणमंत्री आदित्य ठाकरे के साथ महापौर ने किया निरीक्षण

ड्रोन से नष्ट होंगे मलेरिया मच्छरों के डंक : पर्यावरणमंत्री आदित्य ठाकरे के साथ महापौर ने किया निरीक्षण

मॉनसून पूर्व बरसात ने मुंबई में दस्तक दे दी है। जमा हुए बरसाती पानी में मलेरिया के मच्छरों के पनपने के खतरों को देखते हुए मनपा अभी से सतर्क हो गई है। बिल्डिंगों के टैरेस आदि स्थानों पर मलेरिया की उत्पत्ति स्थान को ढूंढने के लिए ड्रोन का उपयोग मनपा कर रही है। इस ड्रोन के माध्यम से मनपा मलेरिया के उत्पत्ति स्थानों को कैसे नष्ट करेगी, इसका प्रत्यक्ष तौर पर पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने महापौर किशोरी पेडणेकर के साथ कल निरीक्षण किया।
बता दें कि शहर में मलेरिया मच्छरों के उत्पत्ति स्थान को ढूंढ कर उसे नष्ट करने के लिए मनपा ने ‘फाइट द बाइट’ नामक अभियान चलाया है। इसके लिए ड्रोन कैमरे की मदद से महालक्ष्मी के धोबी घाट में मलेरिया मच्छरों के उत्पत्ति स्थान को ढूँढा गया। कल शाम के समय इस का अवलोकन पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने किया। इस दौरान महापौर किशोरी पेडणेकर भी उपस्थित रहीं। मुंबई में ऐसे अनेक स्थान हैं जहां मलेरिया मच्छरों के उत्पत्ति स्थान को ढूंढ कर नष्ट करना मनपाकर्मियों के लिए दूभर कार्य है। वहां तक पहुंचना असंभव है। इनमें बंद पड़े मिल, रेलवे परिसर सहित अनेक स्थानों का समावेश है। इसी को ध्यान में रखते हुए कल जी दक्षिण विभाग क्षेत्र में मनपा द्वारा ‘फाइट द बाइट’ अभियान की शुरुआत की गई। इस अवसर पर स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष अमेय घोले, नगरसेवक आशीष चेंबूरकर, पूर्व विधायक सुनील शिन्दे, सचिन अहिर, जी दक्षिण विभाग के सहायक मनपा आयुक्त शरद उघडे आदी मान्यवर उपस्थित थे।