तकदीर को मिलेगा तस्वीर का ‘आधार’, ईवीएम से होगा चेहरा लिंक

इस बार के लोकसभा चुनाव कई मायने में अलग होनेवाले हैं। इनमें सबसे प्रमुख है कि पहली बार ईवीएम यानी वोटिंग मशीनों पर सारे उम्मीदवारों के चेहरे नजर आएंगे। वहां उनकी तस्वीरें लगेंगी यानी सारे प्रत्याशियों की तकदीर को अब तस्वीर का ‘आधार’ मिलनेवाला है। इससे वोटर को काफी आसानी हो जाएगी और वह अपने प्रत्याशी का चेहरा देखकर वोट दे सकता है। चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव २०१९ के लिए तारीखों का एलान कर दिया है। देश में इस बार ७ चरणों में मतदान होंगे। २३ मई को मतगणना होगी। पहले चरण के मतदान ११ अप्रैल, दूसरे चरण के १८ अप्रैल, तीसरे चरण के २३ अप्रैल, चौथे चरण के २९ अप्रैल, पांचवें चरण के ६ मई, छठे चरण के १२ मई और सातवें चरण के मतदान १९ मई को होंगे।

निर्वाचन आयोग ने आम चुनाव का बिगुल फूंक दिया है। आयोग ने लोकसभा की कुल ५४३ सीटों पर ७ चरणों में चुनाव का एलान किया है। ११, १८, २३, २९ अप्रैल एवं ६, १२ और १९ मई को चुनाव होंगे। सभी चरणों की वोटिंग की गिनती एक साथ २३ मई को होगी। २२ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक चरण में ही मतदान होगा। चुनाव कार्यक्रम के एलान के साथ ही पूरे देश में आचार संहिता लागू हो गई है। अब सरकार की ओर से किसी भी नई योजना का एलान नहीं किया जा सकेगा। इसके साथ ही आयोग ने आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश एवं सिक्किम में विधानसभा चुनावों का भी एलान किया। यहां लोकसभा की वोटिंग के साथ विधानसभा के लिए भी मतदान कराया जाएगा।
जानकारी के अनुसार पहले राउंड में २० राज्यों की ९१ सीटों पर मतदान होगा। दूसरे राउंड में १३ राज्यों की ९७ सीटों पर मतदान होगा। तीसरे चरण में १४ राज्यों की ११५ सीटों पर वोट पड़ेंगे। चौथे दौर में ९ राज्यों की ७१ सीटों, ५वें में ७ राज्यों की ५१ सीटों, छठे राउंड में ७ राज्यों की ५९ सीटों और ७वें एवं आखिरी दौर में ८ राज्यों की ५९ सीटों पर मतदान होगा। दिल्ली में छठे चरण में १२ मई को मतदान होगा। १२ राज्यों की ३४ विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए भी लोकसभा चुनाव के साथ ही मतदान होगा। सबसे ज्यादा ८० लोकसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश, ४० सीटों वाले बिहार और ४२ सीटों वाले पश्चिम बंगाल में सभी ७ चरणों में मतदान होगा। आंध्र प्रदेश, अरुणाचल, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, केरल, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, उत्तराखंड, अंडमान-निकोबार, दादर एवं नागर हवेली, दिल्ली, पुदुचेरी, चंडीगढ़ में एक ही राउंड में मतदान होगा। इस बार सभी पोलिंग स्टेशनों पर वीवीपैट मशीनें होंगी। इससे वोटर्स को यह पता चल सकेगा कि उसकी ओर से दिया गया वोट सही उम्मीदवार को ही पड़ा है या नहीं। यही नहीं, ईवीएम की भी कई स्तरीय सुरक्षा होगी। हर उम्मीदवार को फॉर्म २६ भरना होगा। देशभर में कुल १० लाख पोलिंग स्टेशनों पर मतदान कराया जाएगा। २०१४ में यह संख्या ९ लाख के करीब थी। सभी मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी वैâमरे भी लगे होंगे। पूरी चुनावी प्रक्रिया की वीडियोग्रफी भी होगी। चुनाव प्रचार के लिए ईको-प्रâेंडली सामग्री के इस्तेमाल की भी सलाह दी गई है। कोई भी उम्मीदवार अखबार में ३ बार ही विज्ञापन दे सकेगा।