ताबीज ने खोला हत्या का राज, मुर्गी पंख से पकड़ा गया चिकनवाला

हत्या के एक मामले में शव से मिली ताबीज ने हत्या का राज खोल दिया। जबकि शव जिस बोरी में बांधकर फेंका गया था उस बोरी में लगे मुर्गी पंख से आरोपी चिकनवाले तक पुलिस पहुंच गई। यह मामला एक महिला की हत्या से जुड़ा है जिसकी अधजली लाश पुलिस ने टिटवाला से बरामद की है।
जानकारी के अनुसार २३ जून को खड़वली रोड के पास एक २५ से ३० साल की महिला की अधजली लाश पुलिस को मिली थी। कोई सबूत न होने के कारण हत्यारे तक आसानी से पहुंच पाना पुलिस के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रही थी। लेकिन जांच करने पर पुलिस को एक नहीं बल्कि दो-दो सुराग मिल गए, जिससे पुलिस बड़ी ही आसानी से हत्यारे तक पहुंच गई। बता दें कि मृतक महिला के कमर में बंधे ताबीज में बंगाली भाषा का उपयोग किया गया था जिससे जाहिर हुआ कि मृतक महिला शायद बंगाल की रहनेवाली है। वहीं बोरी में मुर्गी के पंख व मांस लगे थे जिससे पुलिस ने अंदाजा लगाया कि हत्यारे का संबंध जरूर चिकन बेचनेवाले से होगा। पुलिस की एक टीम ने टिटवाला के बनेली गांव में बंद चिकन सेंटर देखा तो उसके बारे में जानकारी निकालनी शुरू की। तब पता चला कि दुकान आलम शेख की है जो बंगाल का रहनेवाला है, जिससे मिलने अक्सर एक महिला आया करती थी। पूछताछ में पता चला कि मोनी नामक महिला के साथ आलम शेख के अनैतिक संबंध थे और रोज वह पैसे के लिए आलम के दुकान पर आती थी। लगातार मोनी के द्वारा बढ़ते पैसे की मांग से तंग आकर आलम ने अपने दोस्त मनोरूद्दीन के साथ मिलकर मोनी का मफलर से गला दबाकर हत्या करने के बाद बोरी में लाश को डालकर उसे राया के पास सुनसान जगह पर फेंक दिया और लाश को कोई पहचान न सके इसके लिए पेट्रोल डाल कर उसे जला दिया। पुलिस ने इस मामले में बंगाल से आरोपी आलम को गिरफ्तार कर लिया है।