ताबूत चूम पत्नी ने कहा लव यू, किया सेल्यूट

शहीद चित्रेश बिष्ट का सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर उनकी पत्नी जिस तरह से श्रद्धांजलि अर्पित की उसे देख सभी की आंखे नम हो गई। मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल का दस महीने पहले ही विवाह हुआ था। जब शहीद का पार्थिव शरीर देहरादून लाया गया तो पूरा शहर ही वीर सपूत को श्रद्धांजलि देने उमड़ पड़ा। शहीद के परिवार के लोग भी इनमें शामिल थे। लेकिन जब मेजर विभूति शंकर की पत्नी ने ताबूत के पास जाकर कहा लव यू और अंत्येष्टि के समय सेल्यूट किया तो माहौल गमगीन हो गया। पुलवामा में रविवार रात हुई मुठभेड़ में मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल शहीद हो गए थे।

मेजर विभूति ढौंडियाल का पर्थिव शरीर सोमवार की देर शाम देहरादून स्थित उनके घर पर पहुंचा था। सेना के जवानों के कंधे पर तिरंगे से लिपटे ताबूत में घर पहुंचे बेटे को देखकर परिजन बिलख पड़े। सुबह से जहां सन्नाटा पसरा था, वहां एकाएक कोहराम मच गया। वहां मौजूद लोग भी अपने आंसू नहीं रोक पाए।

घर के सबसे छोटे थे विभूति

तीन बहनों में सबसे छोटे 34 साल के मेजर विभूति की शादी पिछले साल ही 19 अप्रैल को हुई थी। पत्नी निकिता कौल ढौंडियाल दिल्ली में बहुराष्ट्रीय कंपनी में नौकरी करती हैं। पिता ओपी ढौंडियाल का निधन 2015 में हो चुका है। मां सरोज ढौंडियाल बीमार रहती हैं। दो बहनों की शादी हो चुकी है जबकि तीसरी बहन की शादी नहीं हुई है। वह दून इंटरनेशनल स्कूल में शिक्षिका है।