" /> तालाब में कूदा प्रेमी युगल, अंतिम समय में प्रेमी का बदला प्लान, प्रेमिका की मौत 

तालाब में कूदा प्रेमी युगल, अंतिम समय में प्रेमी का बदला प्लान, प्रेमिका की मौत 

परिजनों की रोक-टोक और पिटाई से नाराज प्रेमी युगल जान देने के लिए पोखरे में कूद गया। कूदते ही प्रेमी का प्लान बदल गया। वह तैर कर बाहर आ गया। प्रेमिका की डूबने से मौत हो गई। सोमवार की सुबह प्रेमिका का शव पोखरे में उतराया मिला तो ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणो ने प्रेमी पर हत्या का आरोप लगाते हुए चक्काजाम कर दिया। पुलिस ने प्रेमी को हिरासत में लेकर लोगों को किसी तरह समझाकर जाम खत्म कराया।

आजमगढ़ के सठियांव ब्लाक के एक गांव की 16 वर्षीया किशोरी के घर के बगल में कप्तान गंज थाने के एक गांव के युवक का ननिहाल है। ननिहाल आने जाने से किशोरी और युवक में प्यार हो गया। दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ने लगा तो परिजनों को जानकारी हुई। रोक-टोक भी शुरू हुई। पांच दिन पहले दोनों को एक साथ पकड़ा गया तो पिटाई हो गई। इसी बीच शनिवार की रात दोनों लापता हो गए।

दोनों ने पोखरे में कूदकर मरने का फैसला कर लिया। मरने से पहले दोनों ने शादी की। युवक ने किशोरी की मांग में सिंदूर भरा। इसके बाद गांव के बाहर स्थित पोखरे में कूद गए। प्रेमी तैरना जानता था इसलिए डूब नहीं सका। अंतिम समय में डूबकर मरने का प्लान बदल दिया। उसने प्रेमिका को भी बचाने की कोशिश की। लेकिन वह डूब गई। इससे प्रेमी बुरी तरह डर गया और अपने घर भाग आया।

इधर किशोरी की तलाश में लगे परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस युवक के घर पहुंची तो वह मिल गया। उसने सच्चाई उगल दी। पुलिस तत्काल पोखरे पर पहुंची और किशोरी की तलाश कराई। देर रात तक तलाश होती रही। सोमवार की सुबह पोखरे में किशोरी का शव उतराया मिला तो लोगों की भीड़ लग गई।

आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने किशोरी के शव के साथ सठियांव चौराहे पर जाम लगा दिया। सपा नेता चन्द्रदेव यादव और अखिलेश यादव भी पहुंच गए। परिजनों ने आरोप लगाया कि किशोरी की हत्या कर पोखरे में फेंका गया है। एसओ के निलंबन, 25 लाख मुआवजा, नौकरी और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे।

मामला बढ़ता देख प्रभारी कप्तान पंकज पांडेय, एएसपी इलमारन, एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह, उपजिलाधिकारी गौरव कुमार भी पहुंच गए। मौके पर पहुंचे प्रभारी कप्तान ने कहा कि युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। कोई और भी आरोपी होगा तो उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। 24 घंटे में गिरफ्तारी का आश्वासन मिलने पर जाम खत्म हुआ।

मुबारकरपुर थानाध्यक्ष अखिलेश मिश्रा ने बताया कि परिवार की तहरीर पर बलात्कार और हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा।