थर्टी फस्र्ट पर स्पेशल-२२८

नए साल का जश्न अधिकतर लोग समुद्री किनारे मनाना पसंद करते हैं। ऐसे में कई लोग अपनी सुविधा के अनुसार कार, बाइक या फिर लोकल से सफर कर मुंबई के समुद्री किनारे गिरगांव, दादर और जुहू चौपाटी पहुंचते हैं। लोकल ट्रेन से सफर कर यात्री सकुशल अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच जाए। इसे देखते हुए रेलवे ने थर्टी फर्स्ट पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं। ये कड़े बंदोबस्त भीड़भाड़वाले स्टेशन पर किए गए हैं। महिला यात्रियों के साथ कोई अनहोनी न हो इसलिए रेलवे पुलिस ने यात्रियों की सुरक्षा में थर्टी फस्र्ट `स्पेशल-२२८’ की टीम बनाई है, ताकि नए साल के जश्न पर रेल यात्री सुरक्षित घर पहुंच जाए। 
बता दें कि लोकल के यात्रियों का जश्न नए साल पर खराब न हो इसलिए रेलवे पुलिस ने रात के समय लोकल ट्रेन के यात्रियों की सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। आरपीएफ और जीआरपी ने संयुक्त रूप से सुरक्षा जवानों की स्पेशल टीम तैयार की है। इस स्पेशल टीम में आरपीएफ, जीआरपी और एमएसएफ के महिला और पुरुष जवान स्टेशन, एफओबी और प्लेटफॉर्म पर तैनात रहेंगे। स्पेशल-२२८ जवानों की यह टीम नियमित रूप से रोजाना स्टेशनों पर यात्री सुरक्षा में तैनात रहनेवाले जवानों के अतिरिक्त रहेगी। स्पेशल -२२८ के ये जवान उन स्टेशनों पर तैनात रहेंगे जहां थर्टी फस्र्ट को अधिक भीड़ होगी। पश्चिम रेलवे आरपीएफ के अधिकारियों के मुताबिक दक्षिण मुंबई स्थित चर्चगेट, मरीन लाइंस, चर्नी रोड और ग्रांट रोड पर थर्टी फस्र्ट के दिन अधिक भीड़ होगी जबकि महालक्ष्मी, दादर, बांद्रा, जोगेश्वरी और गोरेगांव स्टेशन पर अधिक भीड़ होने के अनुमान है। उपरोक्त स्टेशन के आसपास समुद्री किनारे, चौपाटी, डिस्को-पब आदि होने के चलते इन स्टेशनों से यात्रियों की आवाजाही होगी। ऐसे में चर्चगेट से ग्रांट रोड स्टेशन पर स्पेशल-२२८ में से ९६ जवान तैनात रहेंगे जबकि महालक्ष्मी स्टेशन से गोरेगांव स्टेशन तक १३२ जवान तैनात रहेंगे। पश्चिम रेलवे आरपीएफ के विभागीय रेल मंडल सुरक्षा आयुक्त अनूप शुक्ला ने बताया कि नए साल पर जिन-जिन स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ होती है, उन स्टेशनों पर यह स्पेशल टीमें तैनात रहेंगी। यात्रियों को भीड़ में कोई संदेहास्पद व्यक्ति दिखाई देता है तो वे रेलवे की हेल्पलाइन १८२ या फिर प्लेटफॉर्म पर सुरक्षा में तैनात जवानों की मदद ले सकते हैं।