दक्षिण-मध्य मुंबई को बनाऊंगा स्मार्ट- राहुल शेवाले का संकल्प

शाखाप्रमुख, नगरसेवक से लेकर संसद का सफर तय करनेवाले शिवसेना सांसद राहुल शेवाले तेज-तर्रार सांसद के रूप में पहचाने जाते हैं। कार्यकुशलता, विकासोन्मुखी योजनाएं और संसदीय क्षेत्र में अच्छे जनसंपर्क ने उनकी जीत के अंतर को इस बार काफी बढ़ा दिया है। २०१४ लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार उनकी जीत के अंतर को १,५२,००० तक पहुंचा दिया। २०१४ की तरह ही शेवाले ने इस बार भी दक्षिण-मध्य लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता एकनाथ गायकवाड़ को बुरी तरह पराजित किया। २०१९ के लोकसभा चुनावों की जीत के अंतर ने राहुल शेवाले पर जनता के विश्वास को मजबूत किया है। इस बढ़े हुए जनादेश पर खुद राहुल शेवाले क्या सोचते और बतौर सांसद इस कार्यकाल में उनकी क्या योजनाएं हैं? इसे जानने के लिए उनसे बात की हमारे मुख्य संवाददाता मोफीद खान ने। पेश है राहुल शेवाले से हुई इस बातचीत के प्रमुख अंश…

चुनाव में मिले जनसमर्थन पर आपका क्या कहना है?
मुझे ऐसा लगता है कि जनता केवल काम को ध्यान में रखकर मतदान करती है और शिवसेना हमेशा से ही जनहित में काम करती आ रही है। वर्ष २०१४ के लोकसभा चुनाव में जिस प्रकार जनता ने मुझ पर भरोसा किया था, उस भरोसे को कायम रखते हुए मैं काम करता रहा और उसी का नतीजा है कि जनता ने मुझे इस लोकसभा चुनाव में १,५२,००० से अधिक मतों से विजय दिलवाई है। मैं आगे भी इसी तरह तहेदिल से जनता की सेवा करता रहूंगा।
पिछले पांच वर्षों में किए गए प्रमुख विकास कार्य?
२०१४ में पहली बार सांसद चुने जाने के बाद मैंने इंदू मिल, २५ वर्षों से लटके धारावी पुनर्विकास योजना को गति देने का काम किया है। इसके साथ ही बीडीडी चाल के पुनर्विकास कार्यों को भी सतत प्रयासों के बाद गति मिल पाई है। यातायात समस्या सुलझाने के लिए चेंबूर से सात रास्ता तक मोनो रेल को कार्यान्वित किया गया। शहर और उपनगरों को जोड़नेवाली मेट्रो रेल का कार्य प्रगति पथ पर है। दादर रेलवे स्टेशन का कायाकल्प जल्द ही होगा। गावठण-कोलीवाड़ा में रहनेवाले भूमिपुत्रों के विकास के लिए आवश्यक सीमांकन की प्रक्रिया प्रत्यक्ष रूप से शुरू हो गई है। ऐसे कई विकास कार्य पिछले पांच वर्षों में किए गए हैं।
आगामी पांच वर्षों के लिए आपका क्या विजन है?
करीब ४,२४,९१७ वोट मुझे इस लोकसभा चुनाव में मिले हैं। जनता द्वारा दिखाए गए विश्वास का मैं ऋणी हूं। आगामी पांच वर्षों में अपने कामों के माध्यम से जनता के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करूंगा। स्मार्ट सिटी योजना की तर्ज पर अपने निर्वाचन क्षेत्र को स्मार्ट निर्वाचन क्षेत्र बनाना मेरा संकल्प है। सड़क, पानी आपूर्ति जैसी मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराना, पर्यावरण हितकारी विकास कार्य और सरकारी योजनाओं को प्रभावी रूप से दक्षिण-मध्य मुंबई लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में लागू किया जाएगा। पुनर्विकास मेरा लक्ष्य है। धारावी, बीडीडी चाल सहित बीपीटी, एलआइसी और अन्य जर्जर व पुरानी इमारतों का पुनर्विकास करने के लिए मैं प्रयासरत रहूंगा।
आपके सामने प्रमुख चुनौतियां क्या हैं?
रिफायनरीज, देवनार डंपिंग ग्राउंड और ट्रैफिक के चलते दक्षिण-मध्य मुंबई लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के कुछ इलाकों में वायु प्रदूषण की समस्या गंभीर है, जिसे सुलझाने के लिए मैं प्रयासरत हूं। इसमें लोगों का सहयोग बढ़ाने के लिए ‘प्लांट ए होप’ नए उपक्रम की शुुरुआत की है। लोकसभा चुनाव में मुझे जितने वोट मिले हैं उतने ४,२४,९१७ पेड़ आगामी पांच वर्षों में लगाए जाएंगे। लोकतंत्र में जनता केवल मतदान करके रुके नहीं बल्कि अपना मत प्रत्यक्षरूप से कर सके इसके लिए ‘युअर वॉइस-युअर बजट’ योजना शुरू की गई। इसके माध्यम से केंद्रीय बजट में जनता की अपेक्षा और सुझाव जाना जाएगा। यह सुझाव मेरे माध्यम से केंद्र सरकार तक पहुंचेगा।
सबसे बड़ी चुनौती आपके सामने क्या है?
सबसे बड़ी चुनौती मतलब मुंबई विकास के मास्टर प्लान को प्रत्यक्षरूप से अमल में लाना हैं। केंद्र सरकार ने विशेष पैकेज घोषित किया तो कम समय में विकास की रूपरेखा को अमल में लाया जा सकता है।

२०१४-२०१९ में किए गए विकास कार्यों को देखते हुए युनाइटेड नेशन ने राहुल शेवाले को सर्वोत्तम सांसद के रूप में सम्मानित किया है, साथ ही उन्हें भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर पुरस्कार से भी नवाजा गया है।