दगा दे रहा है ईवीएम, 157 बूथों पर खराब हुए ईवीएम, चंद्राबाबू ने दोबारा वोटिंग कराने की मांग

लोकसभा चुनाव का पहले ही चरण में ईवीएम ने दगा देना शुरू कर दिया है। ईवीएम मशीन को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने चुनाव आयुक्त सुनील अरोडा को पत्र लिखकर चुनाव  में अनियमितता की शिकायत की है।  नायडू ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि सुबह 9 बजकर 30 मिनट तक जिन पोलिंग बूथों पर इलेक्ट्रॉ़निक वोटिंग मशीन  ठीक ढंग से काम नहीं कर रहे थे वहां से वोटर लौट गए। सीएम नायडू ने कहा कि इन बूथों पर ईवीएम ठीक होने के बाद भी वोटर दोबारा नहीं आए. इसलिए चुनाव आयोग इन बूथों पर दोबारा वोटिंग कराए।

चंद्रबाबू नायडू का कहना है कि राज्य की 157 केंद्रों पर ईवीएम खराब है। तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) का दावा है कि ईवीएम खराब होने के बाद कई वोटर निराश होकर लौट गए।  पार्टी ने इन केंद्रों पर दोबारा वोटिंग कराने की अपील की है। आंध्र प्रदेश में लोकसभा की 25 और विधानसभा की 175 सीटों पर वोटिंग जारी है।  कई जगहों पर ईवीएम में तकनीकी खराबी के चलते वोटिंग में देरी की खबरें आईं।
अमरावती में मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू अपने परिवार सहित उडावल्ली गांव स्थित पोलिंग बूथ में मतदान कर चुके हैं. उनके बेटे नारा लोकेश मंगलगिरि विधानसभा क्षेत्र से टीडीपी के उम्मीदवार हैं जो उडावल्ली के अंतर्गत आता है।

राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी गोपाल कृष्ण द्विवेदी ने तदेपल्ली में अपना वोट डालने के बाद बताया कि करीब 50 जगहों पर ईवीएम में
तकनीकी खराबी की शिकायत मिली। तकनीकी टीम ने मौके पर पहुंच समस्या का समाधान कर मतदान शुरू कराया।

वहीं उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से भी 100 ईवीएम खराब होने की खबर बात सामने आई है।

आंध्र प्रदेश में कुल 3,93,45,717 मतदाता हैं, जिनमें 1,94,62,339 पुरुष, 1,98,79,421 महिलाएं और 3,957 ट्रांसजेंडर शामिल हैं. इनमें से 18-19 वायु वर्ग के 10.5 लाख मतदाता पहली बार मतदान करेंगे।
राज्य में लोकसभा की 25 सीटों के लिए 319 उम्मीदवार और विधानसभा की 175 सीटों के लिए 2,118 उम्मीदवार मैदान में हैं. राज्य में कुल 46,120 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें 8,514 की पहचान संवेदनशील और 520 की वाम चरमपंथ प्रभावित इलाके के तौर पर की गई है। वामपंथी चरमपंथी इलाकों में मतदान शाम पांच बजे तक ही चलेगा. ये इलाके अधिकतर ओडिशा और छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे हुए हैं।