" /> दांव पर लगी थी 14 वर्षीय बच्ची की जान : पुलिसकर्मी बन गया देवदूत

दांव पर लगी थी 14 वर्षीय बच्ची की जान : पुलिसकर्मी बन गया देवदूत

परिवार और दोस्तों का पहुंचना हुआ मुश्किल
पुलिसकर्मी ने रक्तदान कर बचाई

मुंबई पुलिस न सिर्फ अपनी ड्यूटी पूरी कर अपनी वर्दी की वफादारी निभा रही है, बल्कि मानवता की भी अनोखी मिसाल पेश कर रही है। इसका हाल ही में एक नया प्रमाण देखने को मिला, जब एक 14 वर्षीय बच्ची को रक्त की जरूरत थी और उसके परिजनों और दोस्त अस्पताल नहीं पहुंच पाए, तब एक पुलिसकर्मी ने रक्त दान कर इस बच्ची की जान बचाई।
बता दें कि सना फातिम खान नामक एक 14 वर्षीय बच्ची की एक अस्पताल में ओपन हार्ट सर्जरी की जा रही थी। बच्ची के लिए ‘ए पॉजिटिव’ ब्लड ग्रुप की आवश्यकता थी। साइक्लोन ‘निसर्ग’ के कारण बच्ची के परिजन और दोस्त उसकी सहायता करने के लिए पहुंच पाने में सक्षम नहीं थे। ऐसे में ड्यूटी पर तैनात पुलिस सिपाही आकाश गायकवाड़ ने बच्ची को अपना रक्त देकर उसकी जान बचाई, जिसके बाद हर कोई पुलिस सिपाही और मुंबई पुलिस की तारीफ करने लगा। गौरतलब है कि कोरोना वायरस जैसी महामारी के समय में मुंबई पुलिस अपनी जान पर खेलकर इस वायरस को नियंत्रित करने का प्रयास कर रही है।