दाऊद ने लगाया कॉस्मेटिक नकाब!

ग्लोबल टेररिस्ट दाऊद इब्राहिम पर शिकंजा कसता ही जा रहा है। पड़ोसी देश पाकिस्तान की सरजमीं पर आईएसआई की पनाह में छिपे दाऊद को दबोचने की तैयारी शुरू हो गई है। इसके लिए अमेरिकी खुफिया एजेंसी एफबीआई के अधिकारी इन दिनों राजधानी नई दिल्ली में हिंदुस्थानी सरकार की मदद के लिए आ पहुंचे हैं। हिंदुस्थानी खुफिया एजेंसियों ने दाऊद इब्राहिम पर बनाए गए २८० पेज का डॉजियर भी एफबीआई के साथ साझा किया है। इसमें दाऊद के नए कॉस्मेटिक नकाब का खुलासा किया गया है। ६४ वर्षीय दाऊद ने एजेंसियों से बचने के लिए अपने चेहरे की कॉस्मेटिक सर्जरी करवाकर उसे बदल लिया है। खुफिया एजेंसी ‘रॉ’ ने दाऊद की कुछ हालिया तस्वीरों के आधार पर उसका एक नया स्केच भी तैयार किया है। इस स्केच को भी एफबीआई के साथ साझा किए जाने की बात सामने आई है।
बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद से हिंदुस्थानी सरकार पाकिस्तान में पनप रहे आतंकियों पर नकेल कसने के लिए चौतरफा दबाव बना रही है।
इसी कड़ी में एक बार फिर अमेरिका हिंदुस्थानी सरकार की मदत के लिए आ गई है। १९९३ बम धमाके सहित अन्य बम धमाकों में शामिल ग्लोबल टेररिस्ट दाऊद इब्राहिम के लिए अमेरिका, पाकिस्तान पर दबाव बनानेवाला है। इसके लिए एफबीआई के दो वरिष्ठ अधिकारी राजधानी दिल्ली में हिंदुस्थानी खुफिया एजेंसियों से दाऊद से संबंधित जानकारी हासिल कर रहे हैं। एजेंसियों ने एफबीआई को बताया है कि दाऊद भले ही बूढा हो गया हो लेकिन उसकी ‘डी’ कंपनी के गुर्गे अभी भी सक्रिय हैं और हिंदुस्थान के अंदर ‘स्लीपर सेल’ स्थापित करने में मसूद अजहर की आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की मदद कर रहे हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान द्वारा दाऊद इब्राहिम को फर्जी नामों के तहत जारी किए गए पासपोर्टों की जानकारी भी एफबीआई को दिए गए। कराची में दाऊद के ठिकानों के पते और अन्य डिटेल्स भी साझा किए जाने की बात कही जा रही है। फिलहाल दाऊद को कराची से हटाकर आईएसआई ने उसे रावलपिंडी में अपने सुरक्षित स्थान पर छिपा रखा है।