" /> दादा के खिलाफ बगावत

दादा के खिलाफ बगावत

सफल कप्तान के बाद बोर्ड के अध्यक्ष बनकर सौरव गांगुली ने देश के क्रिकेट को नई ऊंचाई पर पहुंचाने के लिए कदम उठाना शुरू किए मगर अब लगता है वो मुश्किल में फंसते नजर आ रहे क्योंकि उनके खिलाफ ही बगावत होने लगी है। ये बगावत भी बड़ी अजीब है। दरअसल, इंडियन प्रीमियर लीग का १३वां सीजन शुरू ही होनेवाला है, गांगुली बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं। टूर्नामेंट की सभी आठों प्रâेंचाइजियों ने बगावत की तैयारी शुरू कर दी है। इसकी वजह बीसीसीआई का वो फरमान है, जिसके चलते टूर्नामेंट की पुरस्कार राशि में ५० प्रतिशत की कटौती कर दी गई है। बीसीसीआई की नई नीति के बाद विजेता को बीस करोड़ की जगह दस करोड़ रुपए मिलेंगे, जबकि बाकी पुरस्कार राशियों में भी ५० प्रतिशत की कटौती की गई है। बोर्ड के इस कदम के बाद से ही प्रâेंचाइजियां असहज हो गर्इं हैं। सारे टीम मालिक बोर्ड के इस पैâसले से खफा हैं। अब देखना दिलचस्प होगा कि दादा इस बगावत से वैâसे निपटते हैं।