दिल्ली के त्रिकोणीय मुकाबले में ‘हाथी’ की दस्तक

-मायावती की पहली चुनावी रैली कल
-उत्तर-पूर्वी संसदीय सीट जीतने का दावा

चुनाव को लेकर दिल्ली का सियासी पारा इस वक़्त सातवें आसमान पर पहुंच गया है। 12 मई को वोटिंग होगी। जहां तीनों प्रमुख दल भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अपने-अपने उम्मीदवारों के जीतने का दावा कर रहे हैं, वहीं बहुजन समाज पार्टी ने भी तगड़ा डाल दिया है। बसपा के उम्मीदवार दिन-रात धुआंधार प्रचार कर रहे हैं। कल बसपा प्रमुख मायावती भी अपने पार्टी के लिए प्रचार करने दिल्ली पहुंच रही हैं। उत्तर-पूर्वी संसदीय क्षेत्र के जीटीवी मैदान में मायावती अपने उम्मीदवारों को दिल्लीवासियों से वोट देने का आह्वान करेंगी। दरअसल दिल्ली का उत्तर-पूर्वी उत्तर प्रदेश की सीमा से सटा हुआ है। वहां बसपा समर्थकों की संख्या अच्छी खासी है। दलित समुदाय के लोग भी काफी रहते हैं। बसपा की जबरदस्त दस्तक देखकर दिल्ली की तीनों प्रमुख पार्टियों ने अपना प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है। आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार दिलीप पान्डे कहते हैं कि बसपा के कारनामों की पोल उनके अधिकृत क्षेत्र उत्तर प्रदेश में खुल चुकी है तभी अपनी सियासी जमीन को बचने के लिए दूसरे प्रदेशों में सेंध लगाने की कोशिश कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने भी मायावती पर तंज कसते हुए कहा है कि वह अंधेरे में चिराग जलाना चाहती हैं। बसपा उम्मीदवार राजवीर सिंह ने कहा पूरे दिल्ली में बसपा का अपना वोटबैंक है। इसलिए उत्तर-पूर्वी सीट बड़े अंतर से जीत दर्ज करेंगे।