" /> दिल्ली पब्लिक स्कूल ने मांगी अभिभावकों से फीस : पालक संघटना ने मुख्यमंत्री से की कार्रवाई की मांग

दिल्ली पब्लिक स्कूल ने मांगी अभिभावकों से फीस : पालक संघटना ने मुख्यमंत्री से की कार्रवाई की मांग

कोरोना के इस दौर में दिल्ली पब्लिक स्कूल ने ऑनलाइन क्लास शुरू करने की अनुमति दे दी है। स्कूल शुरू करने से पहले अभिभावकों से बस शुल्क, लायब्रेरी शुल्क एवं कंप्यूटर शुल्क वसूले जाने से पालक संघटना ने तीव्र नाराजगी जताते हुए आरोप लगाया है कि नेरुल स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल द्वारा ऑनलाइन क्लास शुरू करने के नाम पर अनावश्यक शुल्क अभिभावकों से वसूला जा रहा है जबकि स्कूल प्रिंसिपल ने इस आरोप का खंडन करते हुए कहा कि यह गलत है, छात्रों से सिर्फ ट्यूशन फीस की मांग की गई है क्योंकि सफाई कर्मचारी जैसे अन्य लोगों के वेतन का भुगतान करना है।
कोरोना को लेकर पूरे देश में दहशत का माहौल है। नौकरी-धंधा बंद होने से लोगों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई है, ऐसे में नेरुल सीवुड्स स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल द्वारा ऑनलाइन क्लास शुरू करने से पहले ट्युशन फीस, टर्म फीस, लायब्रेरी फीस, कंप्यूटर फीस, स्कूल बस फीस, स्मार्ट क्लास फीस एवं परीक्षा फीस के नाम पर तीन महीने का 27 हजार, 994 रुपए भरने के लिए अभिभावकों को निर्देश दिया गया है। इस तरह की जानकारी होने पर नई मुंबई पालक संघटना ने विरोध जताते हुए आरोप लगाया है कि इस स्कूल ने ठाणे जिला शिक्षण अधिकारी एवं नई मुंबई मनपा शिक्षण विभाग के आदेशों की अनदेखी करते हुए अभिभावकों से शुल्क की मांग की है। नई मुंबई पालक एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनील चौधरी ने कहा कि इस संदर्भ में मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर स्कूल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई है जबकि इस संदर्भ में स्कूल की प्रिंसिपल जे. मोहंती ने कहा कि सरकार के द्वारा दिए गए निर्देश के दायरे में रहते हुए काम किया गया है। किसी प्रकार की अवहेलना नहीं की गई है, न ही अभिभावकों से गलत पैसों की मांग की गई है। ट्यूशन फीस की मांग की गई है, ताकि अन्य कर्मचारियों का भुगतान किया जा सके।