दिसंबर में शुरू होगा चूनाभट्ठी बीकेसी फ्लाईओवर,  बीकेसी से ईस्टर्न एक्सप्रेस हाई-वे का गर्डर लॉन्च

बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स से ईस्टर्न एक्सप्रेस हाई-वे को जोड़नेवाले १.६ किमी लंबे फ्लाईओवर का गर्डर गत दिनों लॉन्च किया गया। यह गर्डर सायन रेलवे पुल और चूनाभट्ठी एलिवेटेड पुल पर लॉन्च किया गया। एमएमआरडीए के मुताबिक कुल ६ गर्डर शुक्रवार, शनिवार और रविवार की सुबह लॉन्च किए गए। युद्धस्तर पर शुरू इस कार्य को देखते हुए यह संभावना जताई जा रही है कि दिसंबर माह के अंतिम सप्ताह तक इस फ्लाईओवर का काम पूरा हो जाएगा। फिलहाल इस परियोजना का १८ प्रतिशत काम अभी होना बाकी है। ऐसी जानकारी अधिकारी ने दी। जानकारी के मुताबिक सायन रेलवे ट्रैक पर ५२ मीटर लंबा ४८० टन वजन के ६ गर्डर लॉन्च किए गए जबकि चूनाभट्ठी रेलवे ट्रैक के ऊपर ६० मीटर लंबा ६०० टन वजन का गर्डर लॉन्च किया गया है। इस गर्डर के लॉन्च होने के बात अब एमएमआरडीए को मीठी नदी, मध्य रेलवे मार्ग पर चूनाभट्ठी रेलवे स्टेशन के पास पुल तैयार करने में मदद आसानी होगी। यह एलिवेटेड पुल जल्द ही पूरा होने की अपेक्षा है। एमएमआरडीए कमिश्नर आरए राजीव का कहना है कि रेलवे ट्रैक के ऊपर पुल खड़ा करना हमेशा ही जोखिम का काम होता है। हालांकि रेलवे के अधिकारी, एमएमआरडीए के अभियंता ने आपस में समन्वय स्थापित कर इस काम को बड़े ही आसानी से पूरा कर लिया।
बता दें कि १५५ करोड़ रुपए की लागत से तैयार किए जा रहे एलिवेटेड फ्लाईओवर के तैयार हो जाने से सायन- धारावी के बीच होनेवाले ट्रैफिक जाम की समस्या से वाहनचालकों को राहत मिलेगी। साथ ही इस पुल के बन जाने के बाद जहां बीकेसी आने के लिए लगनेवाले समय में ३० मिनट की कटौती होगी, वहीं ३ किमी की दूरी भी कम होगी।