दीवार रोकेगी डीरेल, पटरियों पर कचरा फेंकना होगा बंद

पारसिक गुफा से सटे झोपड़पट्टियों के निवासियों द्वारा पटरियों पर कचरा फेंका जाता है। पटरियों पर जमा कचरे की वजह से कई दफा लोकल ट्रेन पटरियों से उतर जाती थी। इन सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए मध्य रेलवे पारसिक गुफा के पास दीवार बना रही है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि अब कचरे की वजह से लोकल पटरी से नहीं उतरेगी।
बता दें कि पिछले कई वर्षों में पारसिक गुफा के आस-पास अवैध झोपड़पट्टियां बस गई हैं। इन झोपड़पट्टियों में रहनेवाले नागरिकों द्वारा भारी मात्रा में पटरियों पर कचरा फेंका जाता हैं। कचरा पटरियों पर न फेंका जाए इसलिए ५ वर्ष पहले रेलवे प्रशासन द्वारा कलवा की दिशा में पटरी के दोनों ओर दीवार खड़ी कर दी गई थी। ऊंचाई कम होने के कारण लोग दीवार के ऊपर से पटरियों पर कचरा फेंक दिया करते थे। इन सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए बाएं ओर एक और छोटी दीवार खड़ी कर दी गई, जिसके बाद बार्इं ओर से पटरियों पर आनेवाला कचरा बंद हो गया लेकिन दाहिनी ओर से आनेवाला कचरा बंद नहीं हुआ था, दाहिनी ओर से आनेवाले कचरे को भी बंद करने के लिए अब रेलवे प्रशासन द्वारा फिर से ऊंची और कुछ दूरी पर दीवार बनाई जा रही है। दीवार की लंबाई लगभग आधे किलोमीटर की होगी। साथ ही इस दीवार के बन जाने से पारसिक गुफा को सुरक्षा कवच भी मिल जाएगा। मध्य रेलवे के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस दीवार के बन जाते ही कचरे की वजह से लोकल का पटरी से उतरना बंद हो जाएगा।