दुनिया की चौथी अंतरिक्ष महाशक्ति बना हिंदुस्थान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बताया कि भारत अंतरिक्ष में निचली कक्षा में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता रखने वाला चौथा देश बन गया है । इससे पहले यह क्षमता अमेरिका, रूस और चीन के ही पास थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमने जो नई क्षमता हासिल की है, यह किसी के खिलाफ नहीं है बल्कि तेज गति से बढ़ रहे हिन्दुस्तान की रक्षमात्मक पहल है । पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आज का यह परीक्षण किसी भी तरह के अंतरराष्ट्रीय कानून या संधि समझौतों का उल्लंघन नहीं करता है। हम इसका इस्तेमाल 130 करोड़ देशवासियों की सुरक्षा और शांति के लिए ही करना चाहते हैं। हमारा सामरिक उद्देश्य युद्ध का माहौल बनाए रखने की बजाय शांति बनाए रखना है।’

पीएम मोदी ने कहा कि आज का यह कदम भविष्य की सुरक्षा के लिए एक अहम कदम है। आज की इस सफलता को आने वाले वक्त में एक सुरक्षित और शांतिपूर्ण राष्ट्र के लिए बढ़ते हुए कदम के तौर पर देखना चाहिए। यह जरूरी है कि हम आगे बढ़ें और खुद को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करें।

सरकार से जुड़े सूत्रों ने मीडिया को बताया कि ‘पृथ्वी की सतह से करीब 300 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित ‘लो अर्थ ऑर्बिट’ में एक निष्क्रीय भारतीय सैटेलाइट रखा गया था, जिस पर आज दिन में करीब 11:16 बजे ए-सैट वीपन दागा गया. इस पूरे मिशन में तीन मिनट के अंदर निशाने को भेद दिया गया.’