" /> दूल्हे ने पीपीई किट पहनकर लिए सात फेरे

दूल्हे ने पीपीई किट पहनकर लिए सात फेरे

कोरोना काल में मांगलिक कार्यक्रमों पर रोक लगी है तो वहीं कई जगह कुछ छूट के साथ शादियां हो रही हैं। इसी क्रम में नालासोपारा इलाके में एक शादी लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गई है। दरअसल, शादी समारोह में दूल्हे ने पीपीई किट पहनकर सात फेरे लिए जबकि दुल्हन ने भी प्लास्टिक हेलमेट और मास्क लगाकर सात जन्मों की कसमें खाईं।
बता दें कि कोरोना की वजह से शादियों पर भी बुरा असर पड़ा है। बहुत से लोगों को शादी की डेट आगे बढ़ानी पड़ी है लेकिन कुछ लोग कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए जरूरी नियमों का पालन करते हुए तय वक्त पर ही सात फेरों के बंधन में बंध रहे हैं। कोरोना हॉटस्पॉट नालासोपारा में भी ऐसी ही एक शादी की चर्चा हो रही है, जहां दूल्हे ने शादी की पोशाक सूट शेरवानी के बजाय की जगह पूरी पीपीई किट पहनी। वहीं दुल्हन ने प्लास्टिक हेलमेट और मास्क लगाकर सात जन्मों की कसमें खाईं।
नालासोपारा के बिलालपाड़ा इलाके में रहनेवाले दूल्हे संजय गुप्ता (27) और दुल्हन बबिता गुप्ता (23) का विवाह पहले से अप्रैल महीने में तय हुआ था लेकिन विवाह से पहले मार्च महीने में कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन लागू हो गया था। ऐसे में दोनों परिवारों के सामने मुश्किलें खड़ी हो गईं कि उनके बच्चों की शादी कैसे कराई जाए। दोनों पक्षों ने शादी को टालने की बात कही लेकिन दूल्हा अड़ गया और शादी करने की जिद्द कर ली। दूल्हे हठ के आगे न बैंड बाजा और न बाराती और घराती। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दूल्हा ने शेरवानी की जगह पीपीई किट की पोशाक पहनी वहीं दुल्हन ने प्लास्टिक हेलमेट और मास्क लगाकर एक-दूसरे के गले में वरमाला डाली। इसके बाद सात फेरे लेकर हमसफर बन गए। कोरोना महामारी से नालासोपारा हॉटस्पॉट बना हुआ है। पालघर जिले में कोरोना संक्रमित 2,164 मरीज पाए गए हैं। ऐसे में पीपीई किट और प्लास्टिक हेलमेटवाली शादी की जोर-शोर से चर्चा हो रही है।