देशद्रोहियों को फांसी पर लटकाने वाली सरकार चाहिए या गोद में बैठाकर खिलाने-पिलाने वाली? भगवे के लिए जीतना है!, उद्धव ठाकरे का रामटेक में एलान

देशद्रोहियों को फांसी के फंदे पर लटकानेवाली सरकार चाहिए या देशद्रोहियों को गोद में बिठाकर उसे खिलाने-पिलानेवाली सरकार चाहिए? शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के इतना पूछते ही उपस्थित विशाल जनसमुदाय ने हाथ उठाकर कहा, ‘हमें देशद्रोहियों को फांसी के फंदे पर लटकानेवाली सरकार चाहिए।’ यह दृश्य था रामटेक के कमलेश्वर कृषि बाजार समिति के मैदान का जहां शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे महायुति के उम्मीदवार कृपाल तुमाने के लिए आयोजित एक विशाल सभा को संबोधित कर रहे थे। देश में एक बार फिर भगवा लहराने का एलान करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि भगवे के लिए, देश के लिए और किसानों के हितों के लिए यह चुनाव जीतना ही होगा। रामटेक निर्वाचन क्षेत्र भगवा का गढ़ है। यह भगवा का गढ़ बरकरार रहेगा।

विदर्भ के किसानों की समस्याओं का उल्लेख करते हुए उद्धव ठाकरे ने आश्वासन दिया कि जो कुछ बल है, शक्ति है, वह पूरी शक्ति दांव पर लगाऊंगा, लेकिन किसानों का साथ कभी नहीं छोड़ूंगा। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण पर कटाक्ष करते हुए शिवसेनापक्षप्रमुख ने कहा कि जो प्रदेश अध्यक्ष इस्तीफा देने की बात कहता है, वह पार्टी सरकार बनाने का स्वप्न देखती है। महाराष्ट्र लोकसभा की ४८ सीटों में से ४८ सीटों पर शिवसेना-भाजपा-रिपाई महायुति के उम्मीदवारों को दिल्ली भेजना ही है, ऐसा आह्वान उद्धव ठाकरे ने किया।

पाकिस्तान ने अगर खुराफात की तो हमारे पास पाकिस्तान में घुसकर मारनेवाले प्रधानमंत्री हैं। ये बोलकर चुप बैठनेवाले प्रधानमंत्री नहीं हैं। दो बार हम पाकिस्तान में घुसकर उन्हें सबक सिखा चुके हैं, ऐसा उद्धव ठाकरे ने कहा। किसानों की समस्याओं की ओर इंगित करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे किसानों की फसलों का समर्थन मूल्य मिले, यह उनकी अपेक्षा है। किसानों को समर्थन मूल्य देने को शिवसेना-भाजपा वचनबद्ध है, ऐसा आश्वासन उद्धव ठाकरे ने किसानों को दिया। विरोधी दलों पर जबरदस्त हमला बोलते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि मेरा स्वप्न देश के लिए है और तुम लोगों का स्वप्न केवल कुर्सी के लिए है। शिवसेना-भाजपा-रिपाई महायुति के उम्मीदवार को भारी मतों से विजयी करने का आह्वान उद्धव ठाकरे ने उपस्थित जनसमुदाय से किया।