" /> देशसेवा के आगे टाल दीं अपनी शादियां !

देशसेवा के आगे टाल दीं अपनी शादियां !

हृदय में देश और देशवासियों की सेवा का भाव है जंग-ए-कोरोना  के सेनानियों में। वे अपना सारा सुख दुःख भूल चुके हैं। याद है तो बस कर्तव्य ! यूपी के देवरिया जिले में एक थाना है भटनी। जहां पर जीवन के सतरंगी सपने पाले हुए छह युवा कांस्टेबल ऐसे हैं जिनकी इसी कोरोना काल में शादियां होनी थीं। दिन-तारीख सब फिक्स, लेकिन कर्तव्य के समक्ष निजी आकांक्षाएं व सुख-दुःख भी इन युवा सिपाहियों ने किनारे कर दिया। अपनी शादियां टाल दीं..बस कर्तव्य के लिए। घर जाने से ही इंकार कर दिया है।

कांस्टेबल रजनीश यादव इस वक्त कोरोना वारियर हैं। १७ मई को इनकी शादी प्रस्तावित थी पर टाल दी। यहीं डायल ११२ में हैं अम्बेडकरनगर जिले के टांडा निवासी सिपाही अनिरुद्ध उपाध्याय। ये भी आगामी १७ मई को विवाह करने जा रहे थे लेकिन रजनीश के ही नक्शेकदम पर हैं अब। कर्तव्यपथ पर यहां कोई किसी से कम नहीं। कांस्टेबल शाहनवाज का निकाह ७ जून को होना था, तारीख अब आगे बढ़ चुकी है। गाजीपुर के गांव रोहिली निवासी कांस्टेबल जवाहर यादव की तो एक मई को होने वाली शादी भी टल गई है। सिपाही राजेंद्र कुमार निवासी कटघरा थाना सादियाबाद जनपद गाजीपुर की तिलक २३और विवाह २९ मई को होना था, स्थगित हो चुका है। भटनी थाने के कंप्यूटर ऑपरेटर सुशील सिंह (महदेवा महराजगंज) को फरेन्दा निवासी स्मिता सिंह बघेल से सात फेरे लेने थे लेकिन लॉक डाउन के चलते तारीख आगे बढ़ चुकी है। ये सभी जंगजू कोरोना के हराने के लिये कर्तव्यपथ पर डटे हुए हैं।