देश का विचार करके करो मतदान-आदित्य ठाकरे

यह चुनाव गली का नहीं, जिलापरिषद का नहीं, विधायकी का नहीं, बल्कि देश का चुनाव है। देश का मौजूदा दृश्य आपके समक्ष रख रहा हूं इसलिए देश का विचार करके मतदान करें, तभी आपका वोट निर्णायक साबित होगा, ऐसा आह्वान शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने पालघरवासियों से किया।
कल पालघर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के शिवसेना-भाजपा महायुति प्रत्याशी राजेंद्र गावित के प्रचारार्थ विजय संकल्प सभा आयोजित की गई थी। इस सभा को संबोधित करते हुए आदित्य ठाकरे ने उक्त बातें कहीं। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस-भ्रष्टवादी आघाड़ी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि एक तरफ देश के टुकड़े करने की बात करनेवाले तो दूसरी तरफ दुश्मन के टुकड़े करनेवाले खड़े हैं। अब यह आपको तय करना है कि आपको कौन चाहिए? आदित्य ठाकरे के इस सवाल पर उपस्थित जनसमुदाय ने एक स्वर में ‘मोदी-मोदी’ का जयघोष दिया।

मुझसे लोग पूछते हैं कि आप आघाड़ी सरकार के १५ वर्षों के कार्यकाल के बारे में बोलते हो लेकिन अपने पांच वर्षों के कार्यकाल के बारे में क्यों नहीं बोलते? हमने पांच वर्षों में कई विकास कार्य किए हैं। नई सड़कें बन रही हैं, नए एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है। सिंचाई का काम हो रहा है। इसके साथ ही १५ वर्षों के कार्यकाल में कांग्रेस-भ्रष्टवादी आघाड़ी ने सत्ता में रहते हुए जो पाप किए, उसे धोने का काम भी किया है। आनेवाले ५ वर्ष में हम महाराष्ट्र को और आगे ले जाएंगे, ऐसा वचन शिवसेना नेता व युुवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने देते हुए कहा कि महाराष्ट्र में विकास कार्य और भी तेजी से होंगे।
कल पालघर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के शिवसेना-भाजपा महायुति प्रत्याशी राजेंद्र गावित के प्रचारार्थ विजय संकल्प सभा आयोजित की गई थी। इस सभा को संबोधित करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा कि युति सरकार द्वारा किए गए विकास कार्य जनता के सामने हैं। हम जो कहते हैं, उसे कर दिखाते हैं।
उन्होंने कहा कि इस चुनाव में एक ओर शिवसेना-भाजपा महायुति है, तो दूसरी ओर ५६ दलों का महागठबंधन। एक तरफ ५६ इंच का सीना है, जो मजबूत सरकार दे सकता है तो दूसरी तरफ ५६ दल। अब यह आपको तय करना है कि आपको कौन चाहिए? इस सवाल के जवाब में मौजूद जनसमुदाय ने एक स्वर में ‘मोदी मोदी’ का नारा लगाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश की सेवा करनी है इसलिए उन्हें प्रधानमंत्री बनाना है। कांग्रेस मुखिया राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा कि राहुल गांधी को देशद्रोह की धारा नहीं चाहिए। देशद्रोह की धारा हटेगी तो देश के लिए काफी घातक होगा। देशद्रोह कानून रहना ही चाहिए और जो देश के साथ द्रोह करेगा, उसे फांसी पर लटकाना ही चाहिए, यही शिवसेना की भूमिका है। कश्मीर में ‘धारा ३७०’ बनाए रखने की भूमिका कांग्रेस की है। इतना ही नहीं, उन्हीं के सहयोगी फारूख अब्दुल्ला कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री, अलग राष्ट्रपति, अलग राष्ट्रध्वज की बात कह रहे हैं। उनकी मंशा कश्मीर को हिंदुस्थान से तोड़ने की है। क्या ये आपको मंजूर होगा? इस पर सभी ने ‘ना’ में जवाब दिया। उन्होंने राहुल पर टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर राहुल प्रधानमंत्री बने तो देश का कार्टून नेटवर्क हो जाएगा क्योंकि उनके पास न तो नीति है और न ही कोई विचार। इस दौरान उन्होंने बहुजन विकास आघाड़ी की भी खिंचाई की। राकांपा को भ्रष्टवादी की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि उनका चुनाव चिह्न घड़ी है, जिसके दोनों कांटे १०-१० पर होते हैं लेकिन इन्होंने महाराष्ट्र के १२ बजा दिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि प्रचार में जनता का जितना आशीर्वाद मुझे मिल रहा है उतना विपक्ष को नहीं, इसका मुझे गर्व है। सभा के समापन पर उन्होंने उपस्थित लोगों से सवाल किया कि २९ तारीख को आपका रंग कौन सा होगा? निशान क्या होगा? इस पर सभी ने एक स्वर में रंग भगवा और निशान धनुष-बाण कहकर महायुति को भारी मतों से विजयी बनाने की हामी भरी।