" /> देश में १० और बढ़े कोरोना के मरीज!, केरल के छह और कर्नाटक के चार लोगों में संक्रमण की पुष्टि

देश में १० और बढ़े कोरोना के मरीज!, केरल के छह और कर्नाटक के चार लोगों में संक्रमण की पुष्टि

देश में और १० लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें छह केरल जबकि चार कर्नाटक से हैं। केरल में नए मामलों की जानकारी वहां के मुख्यमंत्री ने दी, वहीं कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य में मरीजों के बारे में बताया। इसके साथ ही देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की तादाद बढ़कर ५७ तक पहुंच चुकी है। हालांकि केंद्र सरकार ने इन नए मामलों की पुष्टि नहीं की है।
केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कहा कि राज्य में सातवीं कक्षा तक पढ़ाई और परीक्षा ३१ मार्च तक स्थगित रहेगी। यानी केरल में सातवीं क्लास के बच्चों के स्कूल बंद रहेंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि क्लास ८, ९ और १० की परीक्षाएं पूर्वनिर्धारित योजना के मुताबिक होंगी। केरल सरकार ने ट्यूशन क्लासेज, आंगनवाड़ी, मदरसा ३१ मार्च तक बंद रखने का एलान किया है। इटली से लौटे एक व्यक्ति के माता-पिता को कोट्टयम मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया था, जिनमें कोरोना का संक्रमण पाया गया है। इनकी उम्र ९० और ८५ वर्ष है। मंगलवार को जिन अन्य दो लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है, वो दोनों इटली से लौटे उस व्यक्ति को एयरपोर्ट से घर लाया था। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु ने राज्य में कोरोना वायरस से चार नए लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि करते हुए कहा कि उनके परिवारों को अलग कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि उन पर सरकार की नजर है। स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से सावधानी बरतने और संक्रमण को पैâलने से रोकने में मदद करने की अपील की है।

अफवाह से २७ की मौत
तेहरान। अब तक १०० से ज्यादा देशों में पैâल चुके घातक कोरोना वायरस से बचाव के बारे में अफवाहें भी चल रही हैं। इसी तरह की अफवाह के चलते ईरान में २७ लोगों की मौत हो गई। ईरान में तेजी से पैâले कोरोना वायरस से करीब ५ हजार लोग संक्रमित हैं। ईरान ने वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी स्कूलों और विश्वविद्यालयों को बंद करने के साथ ही सांस्कृतिक और खेल के सभी बड़े उत्सव रद्द कर दिए हैं। कोरोना से बचाव के बारे में ईरान में अफवाह पैâली कि अल्कोहल पीने से इस वायरस से बचा जा सकता है। खबर के मुताबिक वायरस के संक्रमण से बचने की अफवाह के बाद कई लोगों ने मिथेनॉल पी लिया। इससे २७ लोगों की मौत हो गई। जुंदिशापुर मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता ने बताया कि २१८ लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ज्यादा मात्रा में मिथेनॉल पीने से आंखों की रोशनी जाने, लीवर खराब होने का खतरा होता है जिससे मौत भी हो सकती है।

कोरोना पर भारी पड़ा मजाक
जोहानिसबर्ग। चीन में महामारी बन चुके कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है। सौ से अधिक देशों में पैâले इस वायरस से मृतकों की संख्या चार हजार के पार पहुंच गई है, वहीं १,१०,००० से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं। कोरोना को लेकर मचे हाहाकार के बीच दो नागरिकों का इस गंभीर वायरस को लेकर मजाक करना उनके लिए परेशानी का सबब बन गया। दोनों नागरिक मुसीबत में फंस गए हैं। कोरोना वायरस पर मजाक के चलते हिंदुस्थानी मूल के दो दक्षिण अप्रâीकी नागरिक मुसीबत में फंस गए हैं। पहला मामला हिंदुस्थान से डरबन लौटी ५५ वर्षीय एक महिला का है, जिसने दावा किया कि उसे कोरोना वायरस का संक्रमण है। उसे आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया। जब यह पाया गया कि महिला को कोई संक्रमण नहीं है तो उसने कहा कि वह मजाक कर रही थी। बाद में पुलिस जांच में पता चला कि धोखाधड़ी के एक मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए महिला ने ऐसा कहा था। महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ये भी पढ़ें…चीन ने कोरोना पर पाया काबू