दोस्ती क्या होती है ये दिखा देंगे – उद्धव ठाकरे

शिवसेना-भाजपा की युति हो गई है। वर्तमान स्थिति में युति का निर्णय योग्य ही है। ऐसी भूमिका स्पष्ट करते हुए कल शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि दोस्ती क्या होती है, अब भाजपा को ये दिखा देंगे। लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में शिवसेना सांसद, जिला संपर्कप्रमुख व तालुका संपर्कप्रमुख के सम्मेलन का वे मार्गदर्शन कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने लोकसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने के लिए पूरी ताकत और कड़ी मेहनत करने का आदेश भी दिया।
शिवसेना-भाजपा के बीच हुई युति के निर्णय के संदर्भ में भूमिका स्पष्ट करते हुए कहा कि युति के निर्णय पर कुछ लोग कटाक्ष कर रहे हैं। उन्हें कटाक्ष करने दो। मैं उससे नहीं घबराता। मैंने यू टर्न लिया है, ऐसा कटाक्ष किया जा रहा है। मैं यू टर्न नहीं लूंगा बल्कि जेड टर्न लूंगा। मैं पार्टी और राज्य के हित में निर्णय लूंगा। शिवसेना कभी लाचारी से नहीं चलेगी, ऐसा स्पष्ट करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि युति का निर्णय हुआ… वैâसे हुआ? मैं अपनी जगह पर ही खड़ा हूं और मैंने अपनी जगह नहीं छोड़ी है, इसे ध्यान में रखो।
मुख्यमंत्री पद चर्चा…
मेरे और शाह के बीच!
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद के बारे में भाजपा से सुस्पष्ट चर्चा हुई है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि यह चर्चा उनके और अमित शाह के बीच हुई है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इस चर्चा में गवाह हैं। मुख्यमंत्री पद को लेकर वर्तमान में जिनके मन में कुछ सवाल है उन्हें बस मैं इतना ही कहूंगा जिम्मेदारी का आधा बंटवारा इसका अर्थ समझें।
हर शिवसैनिक की चिंता रहेगी
शिवसैनिकों ने स्वबल पर लड़ने की जोरदार तैयारी की है। मुझे प्रत्येक शिवसैनिक और उनके जज्बात के प्रति आदर है। इन प्रत्येक लड़ाकू शिवसैनिकों की  मुझे चिंता रहेगी।