दो साल बाद उड़ेगी कार!

आपकी कार यदि सड़क पर दौड़ने के साथ ही हवा में उड़ने भी लगे तो वह रोमांच कितना अविश्वसनीय होगा। हालांकि ऐसा होने जा रहा है। कुछ ऑटोमोबाइल कंपनियां ऐसी हैं, जो लगातार फ्लाइंग कार बनाने को लेकर काम कर रही हैं। माना जा रहा है कि जो लोग खुद की कार लेकर आसमान में उड़ने का सपना देख रहे हैं उनका यह सपना दो साल बाद यानी २०२० तक सच होनेवाला है। एक अनुमान के मुताबिक साल २०२० तक ७ वंडर फ्लाइंग कार मार्वेâट में आ जाएगी और यह सब होगा सिर्फ और सिर्फ तकनीक की बदौलत। फ्लाइंग कार को बनाने में कई कंपनियां लगी हैं।

बता दें कि जर्मनी की कार निर्माता कंपनी ऑडी और इटेलोडिजाइन ने मिलकर एक हवाई कार बनाई है। इस कार से ट्रैफिक से निजात मिलेगी। इस कार को पूरी तरह हाइटेक बनाया गया है। यह एक सेल्फ ड्राइविंग कार होगी। यह कार हवा और सड़क दोनों पर चलेगी। जैसी आवश्यकता होगी वैसी ही स्थिति में चलने की उस कार की क्षमता होगी। जानकारी के मुताबिक कार में एक ड्रोन होगा जो कार को हवा में उड़ाएगा। बताया जा रहा है कि यह एक हाईटेक कार होगी जो आवाज, आंखों और टच बटन से संचालित होगी। इतना ही नहीं गंतव्य तक छोड़ने के बाद ड्रोन अपने आप रिचार्ज स्टेशन पर पहुंच जाएगा। ऑडी कंपनी यह कार २०२४ से २०२७ तक बाजार में उतारेगी। ऑस्ट्रिया की कंपनी स्लोवाकिया की एरोमोबिल की कार भी उड़ने को तैयार है और अभी इसकी बुकिंग जारी है। इस कार का इंटीरियर किसी लग्जरी कार को टक्कर दे सकता है। कंपनी पहले भी फ्लाइंग कार ३.० को २०१४ में दिखा चुकी है, लेकिन इसके नए वर्जन में पहले से ज्यादा बेहतर फीचर जोड़े गए हैं। फ्लाइंग कार के मामले में सबसे बड़ी चुनौती यूरोपियन एयरोस्पेस जाएंट एयरबस ने ली है। इसके पहले से ही तीन फ्लाइंग कार कॉन्सेप्ट हैं। उनमें से सबसे उम्दा पर्सनल मोबिलिटी फ्लाइंग कार है। गूगल को-फाउंडर लैरी पेज द्वारा समर्थित किटी हॉक फ्लायर का एक फुटेज सामने आ चुका है और यह संचालन के एडवांस स्टेज पर है। लिलियम यह ड्रोन की तरह टेक-ऑफ करता है, उसके बाद यह विंग वाले एयरक्राफ्ट में तब्दील हो जाता है। इस दो सीटर प्रोटोटाइप का ट्रायल रन हो चुका है। तेररफुजिया यूएस की इस कंपनी का दावा है कि इसके टी एफ-एक्स उड़ने को तैैयार हैं। इसकी डिजाइन में फोल्ड-आउट विंग्स और हेलीकॉफ्टर जैसे रोटोर ब्लेड्स हैं। इसकी क्रूजिंग स्पीड ३२२ किमी प्रति घंटा है।
वोलोकॉप्टर यह आधा हेलीकॉप्टर और आधा ड्रोन है। यह हकीकत में बदल चुका है और दुबई ने वोलोकोप्टर २ एक्स मॉडल के साथ एयर टैक्सी दुनिया का पहला टेस्ट रन शुरू कर दिया है। इस साल की शुरुआत में टेस्ट रन शुरू होगा। इसमें इलेक्ट्रिक मोटर्स, १८ रोटोर्स और पूरी तरह से ऑटोनोमस कंट्रोल सिस्टम है। उबर ने भी फ्लाइंग कार बनाने के लिए नासा से करार किया है। उबर की उड़नेवाली टैक्सी आपके घर की छत पर आएगी और आपको पिक-अप करेगी। यह कार २०२० तक अपनी सेवा देगी