" /> धर्म और अध्यात्म से जुड़ी है सरकार,   मंदिरों और माँ नर्मदा के संरक्षण के लिए कर रहे काम – मंत्री पी.सी. शर्मा

धर्म और अध्यात्म से जुड़ी है सरकार,   मंदिरों और माँ नर्मदा के संरक्षण के लिए कर रहे काम – मंत्री पी.सी. शर्मा

मध्यप्रदेश सरकार धर्म और आध्यात्म से जुड़ी है। शासकीय मंदिरों के जीर्णोद्धार और पुजारियों के संरक्षण के लिए सरकार ने अनेक महत्वपूर्ण फ़ैसले लिए हैं। माँ नर्मदा के परिक्रमा पथ पर धर्मशालाओं का निर्माण भी किया जा रहा है। सरकार ने धर्मस्व विभाग का नामकरण अध्यात्म विभाग करके इसे व्यापक रूप दिया है। अध्यात्म, विधि और जनसंपर्क मंत्री  पी.सी. शर्मा ने आज इंदौर में नार्मदेय समाज के वार्षिक उत्सव में यह बात कही। उन्होंने समाज की विशिष्ट हस्तियों और अच्छा कार्य करने वाले समाजजनों का सम्मान किया। इस अवसर पर सुभाष महोदय, सत्यनारायण सत्तन, आलोक बिल्लोरे,  संगीता उपाध्याय सहित पूरे प्रदेश के नार्मदेय समाज से आए समाज जन उपस्थित थे।
बुजुर्ग हैं समाज की सम्पदा
मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने नर्मदा भवन ट्रस्ट के वार्षिकोत्सव एवं अलंकरण समारोह में प्रोफ़ेसर बालकृष्ण निलोसे और श्री प्रभाकर चौरे को लाइफ़ टाइम अवार्ड से सम्मानित किया। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि बुजुर्ग समाज की सम्पदा है। उनके ज्ञान, अनुभव और तपस्या से ही नई पीढ़ी को दिशाबोध होता है। श्री शर्मा ने नर्मदा भवन ट्रस्ट के इस आयोजन को सराहा और कहा कि वे ऐसे आयोजनों से अच्छा कार्य करने की प्रेरणा सभी को मिलती है। उन्होंने समाज के समाधान प्रकल्पों को भी सराहा, जिसके माध्यम से समाज के छोटे-छोटे विवाद आपस में सुलझाए जाएंगे।
सरकार ने बढ़ाया पुजारियों का मानदेय
श्री शर्मा ने कहा कि उनके जीवन में माँ नर्मदा की बड़ी कृपा रही है। यह सुखद संयोग है कि मंत्री बनने के बाद उन्हें होशंगाबाद और हरदा के ज़िलों का प्रभार मिला जो माँ नर्मदा की तट भूमि है। मध्य प्रदेश सरकार ने महाकालेश्वर मंदिर के और भव्य स्वरूप प्रदान करने के लिए साढ़े 3 सौ करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की है। अब मंदिर और भी भव्य हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कई सालों से शासकीय मंदिर के पुजारियों का मानदेय नहीं बढ़ा था। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की सरकार में 22 हज़ार पुजारियों का मानदेय तीन गुना तक बढ़ा दिया है।