" /> नकलची अंदर! यूपी में १४१ नकल माफियाओं पर नकेल

नकलची अंदर! यूपी में १४१ नकल माफियाओं पर नकेल

 यूपी की बोर्ड परीक्षाओं में नकलचियों का बोलबाला
 २९ स्कूलों की मान्यता रद्द करने की कार्रवाई शुरू
 बस्ती पहुंचे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, किया निरीक्षण

१०वीं की बोर्ड परीक्षा किसी भी विद्यार्थी के जीवन का एक अहम पड़ाव होता है। इसके बाद उच्च शिक्षा और कॉलेज जीवन की पढ़ाई शुरू होती है। बोर्ड में अच्छे नंबरों के लिए विद्यार्थी खूब मेहनत करते हैं और जो न कर पाए उनका ध्यान नकल की ओर चला जाता है। यूपी में बोर्ड की हाई स्कूल-इंटरमीडिएट परीक्षाएं चल रही हैं। जारी परीक्षाओं के बीच नकल होने की शिकायतें मिल रही हैं। इन शिकायतों को मिलने के बाद प्रशासन चौकन्ना हो गया है। सरकार द्वारा नकल रोकने के लिए सख्त कदम उठाने के साथ ही नकलची अंदर किए जा रहे हैं।

कल यूपी के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा बस्ती में खुद परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण करने निकल पड़े। उन्होंने कई केंद्रों का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए। डिप्टी सीएम ने बताया कि १४१ नकल माफियाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। नकल होने की खबर मिलने पर २९ स्कूलों की भी मान्यता छीनने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। डिप्टी सीएम ने बस्ती जिले में श्रीकृष्ण पांडे गर्ल्स इंटर कॉलेज एवं श्यामा प्रसाद मुखर्जी इंटर कॉलेज तथा श्रीकृष्ण पांडेय इंटर कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्होंने लखनऊ स्थित मॉनिटरिंग सेंटर से निरीक्षण के सीसीटीवी वैâमरों का मिलान भी कराया। उन्होंने कहा कि इस बार उत्तर प्रदेश में परीक्षा केंद्रों की निगरानी के लिए १ लाख ९० हजार सीसीटीवी वैâमरे से निगरानी की जा रही है।

१ लाख ८८ हजार कक्ष निरीक्षक व ९४ हजार कक्ष में यूपी बोर्ड की परीक्षा हो रही है। जो माफिया इसे व्यवसाय बना रहे हैं उनके खिलाफ मुहिम चला कर कार्यवाही होगी। १४१ नकल माफियाओं के खिलाफ एफआईआर की कार्रवाई कर उन्हें जेल भेजा जा रहा है। २९ विद्यालयों के खिलाफ मान्यता रद्द करने की कार्यवाही कर दी गई है। नकल करानेवालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। निरीक्षण के दौरान डीएम आशुतोष निरंजन व पुलिस कप्तान हेमराज मीणा भी मौजूद रहे।