" /> नकली नोट बनानेवाली गैंग के 3 सदस्य क्राईम ब्रांच की गिरफ्त में, 20 लाख रुपए के नकली नोट जप्त

नकली नोट बनानेवाली गैंग के 3 सदस्य क्राईम ब्रांच की गिरफ्त में, 20 लाख रुपए के नकली नोट जप्त

▪ आरोपीगणों के कब्जे से 20 लाख रुपये के नकली नोट जप्त, जिसमे 2000, 500 एवं 200 रुपये के नोट हैं शामिल ।

▪ करोड़ों रुपये के नकली नोट अब तक बाजारों में खपाने की हैं आशंका ।

▪ नकली नोट छापने के लिये इस्तेमाल करने वाला पी सी, प्रिंटर , पेपर कटर, केमिकल, डिकोटिंग पेंट व इंक, हायड्रोलिक जैक, कटिंग प्लाटर व अन्य सामग्री बरामद।

इंदौर क्राइम ब्रांच की टीम को सूचना मिली थी कि अकरम गोलू उर्फ़ शहजाद, व फिरोज नामक व्यक्ति नकली नोट बनाकर बाजार में खपा रहे हैं जो कि इन्दौर मानपुर फोरलेन रोड पर राजपूत ढाबे के आगे टोल नाके तरफ नकली नोट की बड़ी खेप की सप्लाय करने के लिये खडे है । सूचना पर क्राइम ब्रांच एवं थाना किशनगंज की टीम द्वारा तत्काल संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुये मुखबिर की बताई सूचना के आधार पर मौके पर पहुंचकर तलाश की तो मुताबिक के तीन संदिग्ध व्यक्ति खड़े व्यक्ति दिखें, एक व्यक्ति के हाथ में काले रंग का बैग था तथा दो अन्य व्यक्ति हाथ मे पोलिथिन लिये थे जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ा। पूछताछ पर आरोपियों ने अपना नाम- (1) फिरोज पिता अजीज खान उम्र 38 साल नि- पंचायती बाडी थाना राजपूर जिला बड़वानी, (2) अकरम पिता रमजान मंसूरी उम्र 25 साल नि . ग्राम ओझर नागलवाली बड़वानी एवं (3) गोलू , उर्फ शहजाद अली पिता रफीक अली उम 35 साल नि नाम ओझर नागलवाडी जिला बड़वानी का होना बताया, जिनसे सख्ती से पूछताछ करने पर उनके द्वारा बताया गया की वह यहाँ पर नकली नोट की बड़ी खेप सप्लाई करने के लिये आये थे ।
आरोपी फिराज के हाथ में मौजूद पोलिथिन की तलाशी लेने पर उसके पास से 2000 रुपये के नोट की 6 गड्डी ( कुल 600 नोट) मिली जिसकी कुल 12,00,000 ( 12 लाख रुपये ) मिले। आरोपी अकरम पिता रमजान के हाथ में मौजूद काले रंग के बैग की तलाशी लेने पर 500 रुपये के नोट की 13 गडी ( कुल 1325 नोट ) जिसमे कुल 6,62,500 ( 6 लाख बासट हजार पांच सौ रुपये ) के नोट मिले तथा आरोपी गोलू उपा शहजाद के पास मौजूद पोलिथिन की तलाशी लेने पर 200 रुपये के नोटों की 07 गड्डी ( जिसमे कुल 701 नोट ) कुल 1, 40, 200 रुपये मिलें। इस प्रकार तीनों आरोपीगण के पास से कुल 20,02,700 ( बीस लाख दो हजार सात सौ रुपये ) रुपये में नोट मिले जिनकी आरबीआई गाइड लाईन के मुताबिक गुणवत्ता की परख करने पर पाया गया कि उक्त सभी नोट उच्च गुणवता के नकली नोट है, जिसमे नोट छापने के साथ प्रयोग की जाने वाली श्याही असल नोटो के समान थी किन्तु नोटों में मुद्रित वाटरमार्क तथा अन्य पहचान चिन्हों की तस्दीक करने पर नोट नकली होना पाये गये जिसके परिपेक्ष्य में आरोपीगणो का कृत्य धारा 489 ए . 489 बी , 489 सी व 120 बी भादवि से दंडनीय होने से आरोपीगण के कब्जे से कुल 20,02,700 ( बीस लाख दो हजार सात सौ रुपये ) रुपये के नकली नोट विधिवत् जप्त किये गये तथा आरोपीगण को उक्त अपराध में विधिवत गिरफ्तार कर थाना किशनगंज पर आरोपीगण के विरुध्द अपराध क्रमांक 192 / 2020 धारा 489 ए , 489 श्री . 489 सी 3 120 बी भादवि का अपराध पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया ।

आरोपी फिरोज की निशानदेही पर किराये के मकान नबर 21 / 11 परदेशीपुरा की तलाशी लेने पर आरोपी के घर पर नकली नोट बनाने की समस्त सामग्री रखी मिली । उक्त किराये के मकान में नकली नोट बनाने के प्रिंटिंग फर्म-03 तथा फर्मा के कसने के लिये उपयोग में आये जाने वाले लोहे के स्टैड नग -3, फर्म पर कलर फैलाने वाले वाईपर, नकली नोट बनाने में प्रयोग होने वाले कागज का बंडल 2×1.75 फिट के सफेद रंग के पेपर की शीट, एक एचसीएल कंपनी का मोनिटर जिसका सीरीयल नं AOCVMSH73603426 है, एक की बोर्ड, एक सीपीयू, माउस पावर केबल, एक डिब्बे में हरी पोलिथिन जिसकी कटी हुई स्ट्रीप्स को नकली नोटो में लगाने में प्रयोग किया जाता है । डिब्बे में ट्रेस पेपर व बटर पेपर जिनमें नकली नोट बनाने के दौरान 200 , 500 व गांधीजी वाटरमार्क , रुपये के नोट के पंपलेट, 2000 नोटों की कीमत का वाटरमार्क, कटर के पैकेट 10, एक पेपर कटर मशीन जिस पर 829843+ लिखा है, एक कटिंग प्लाटर GRAPHTEC कंपनी का CE-6000- 60 PLUS लिखा हुआ, एक काले रंग का एच पी डेस्क जेट इंक एडवांटेज फोटो व वेब के लिये किया, कापी स्केन, प्रिंटर जिसका प्रयोग प्रिंट 4515 जाता है जिसका सीरीयल नंबरCN56157425 . माडल नंबर SNPRH – 1202 . CMIT ID 201 – 20 – 15114 . BHOOMI कंपनी का हायड्रोलिक जैक तथा लोहे की कैबिनेट जिसका प्रयोग नोटे की गड़ियों को को कंप्रेस करने में किया जाता है , स्टेनलेस स्टिल की दो मीटर स्केल नग 03, नकली नोट बनाने के काम में आने वाले प्रिंटिंग इंक के डब्बे कुल नग 21,दो प्लासटिक के सफेद केन जिनमे इंक में मिलाने वाला थीनर प्लासटिक व लोहे की क्लीप्स कुल प्रिंट वेल कंपनी , नग 74 से पैकेट 31 फोटॉकिना कपनी के डिकोटिंग पाउडर के पैकेट 12 के डिकोटिंग पाउडर केसिटाईसर के पैकेट 16 , एक 50 वाट की एलईडी हिट सिंक फ्लड लाईट , नोट बनाने के काम में आने वाले तीन ट्रांसपरेंट मीरर व एक लोहे की प्लेट सहित एक किरायेदारी का इकरारनामा आरोपी श्रीराम गुप्ता व मकान मालिक रमेश माधवराव के बीच का आदि समग्री को जप्त किया गया है ।
आरोपीगण के कब्जे से 2000 , 500 , 200 के कुल 20 लाख 2 हजार 700 रुपये के नकली नोट एवं नोट छापने के उपकरण लेपटाप , प्रिंटर . पेपर कटर , केमिकल्स , कलर एवं पेज जप्त किये गये है । आरोपीगण से पूछताछ में जानकारी प्राप्त कर मामले में शामिल अन्य लोगों के विरुध्द भी अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जावेगी । उक्त सराहनीय कार्यवाही को करने वाली पूरी पुलिस टीम की प्रशंसा करते हुए, आईजी इंदौर ज़ोन श्री विवेक शर्मा द्वारा इसमे मुख्य भूमिका निभाने वाली टीम को 30,000 रूपये के नगद पुरस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा की गयी हैं।