नक्सलियों से निपटेगा ‘एच १४५’

नक्सलवादियों के खिलाफ सरकार ने आर-पार की लड़ाई लड़ने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार ने फ्रेंच बनावट के ‘एच १४५’ अत्याधुनिक हेलिकॉप्टर खरीदने का निर्णय ले लिया है। हेलिकॉप्टर खरीदने के निर्णय के बाद तीन पायलटों को जर्मनी में प्रशिक्षण के लिए भेजने का भी निर्णय सरकार ने लिया है। इन तीनों पायलटों को जर्मनी के डानावर्थ मैनचिंग में ७५ दिन के प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के घने जंगलों में हेलिकॉप्टर ‘एच १४५’ उड़ाने का विशेष प्रशिक्षण इन्हें दिया जाएगा। जिन पायलटों को प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा उसमें वैâप्टन संजय कर्वे, कैप्टन महेंद्र दलवी और कैप्टन मोहित शर्मा का समावेश है। नक्सल विरोधी कार्रवाई अधिक तीव्र करने के लिए और इन हेलिकॉप्टरों को खरीदने के लिए ७२ करोड़ ४३ लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इन हेलिकॉप्टरों को घने जंगलों में उड़ाने के लिए विमान चालन संचालनालय की ओर से इन तीनों पायलटों को ५ जून से १४ अगस्त तक जर्मनी में प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा। इस प्रशिक्षण पर करीब ७ लाख ३० हजार ५०० रुपए खर्च किए जाएंगे।
बता दें कि महाराष्ट्र दिन के अवसर पर नक्सलियों ने भूमिगत सुरंग के माध्यम से हमले किए थे, जिसमें १५ जवान शहीद हो गए थे इसलिए सरकार ने अब नक्सलियों से आर-पार की लड़ाई लड़ने का निर्णय लिया है। नक्सलवादियों के खिलाफ कार्रवाई के अलावा इन हेलिकॉप्टरों का उपयोग प्राकृतिक आपदा के समय भी किया जाएगा।
७२ करोड़ रुपए होंगे खर्च
तीन पायलट प्रशिक्षण के लिए जाएंगे जर्मनी
पायलट के प्रशिक्षण पर खर्च होंगे ७ लाख