नमी ने की हवा शुद्ध

उमसभरी गर्मी से परेशान मुंबईकरों के लिए कल का दिन हवा की गुणवत्ता के मामले में सबसे अच्छा रहा। शहर का पारा भले ही ३४ डिग्री के पार पहुंच गया था लेकिन हवा की शुद्धता के मामले में इस वर्ष अब तक का सबसे बेस्ट एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) दर्ज किया जो ६२ था। हवा की गुणवत्ता का आकलन करनेवाली संस्था की मानें तो मुंबई की हवा की गुणवत्ता संतोषजनक थी। वैज्ञानिक की मानें तो हवा की शुद्धिकरण के पीछे शहर के वातावरण में मौजूद नमी एक बड़ा कारण है।
बता दें कि वायु प्रदूषण के मामले में मुंबई का ग्राफ कभी कम तो कभी ज्यादा रहता है। कल पर्यावरण दिवस के अवसर पर मुंबई की हवा सबसे शुद्ध रही। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉर कॉस्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के अनुसार कल मुंबई में हवा की गुणवत्ता ६२ एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) के साथ संतोषजनक रही। मुंबई के भांडुप में ४१ एक्यूआई, वर्ली में ४४ एक्यूआई, मालाड में ५१ एक्यूआई दर्ज किया गया जबकि सबसे अधिक ७४ एक्यूआई अंधेरी, ७१ एक्यूआई बोरीवली और चेंबूर में ६६ एक्यूआई दर्ज किया गया जो कि संतोषजनक रहा। हवा की शुद्धता के पीछे सफर के प्रॉजेक्ट डायरेक्टर गुफरान बेग ने `दोपहर का सामना’ को बताया कि इन दिनों देश के उत्तरी क्षेत्र में तापमान काफी अधिक था उसके बाद अचानक अरब और बंगाल की खाड़ी से नम हवाओं के प्रवेश करने से पर्यावरण में मौजूद प्रदूषण के घातक कण तत्व बैठ गए हैं। यही कारण है कि पूरे पश्चिम हिंदुस्थान में हवा की गुणवत्ता में काफी सुधार देखने को मिला है।