" /> नवरात्र से नये स्थान पर विराजेंगे रामलला!

नवरात्र से नये स्थान पर विराजेंगे रामलला!

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 24 और 25 मार्च को अयोध्या प्रवास पर रहेंगे। योगी 24 मार्च को श्रीराम जन्मभूमि परिसर में बन रहे भगवान रामलला के अस्थाई मंदिर के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। उस दिन वे अयोध्या में ही रात्रि विश्राम के बाद 25 मार्च की सुबह नवरात्र के प्रथम दिन रामलला के नए अस्थाई मंदिर में विराजमान किये गये भगवान रामलला का पूजन अर्चन करेंगे।जिला प्रशासन मुख्यमंत्री के अयोध्या दौरे की तैयारियां शुरू कर  दी हैं। राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर गतिविधियां तेज हो गई हैं। बता दें कि राम मंदिर निर्माण को लेकर रामलला के गर्भगृह को शिफ्ट करने की प्रक्रिया अंतिम दौर में है। मानस भवन के गैलरी में फाइबर के मंदिर में 24 मार्च को योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में संत धर्माचार्य वैदिक मंत्रों के बीच रामलला की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे। इसके बाद रामलला अपने नए अस्थाई मंदिर में विराजमान हो जाएंगे। 24 मार्च को पूजन के दौरान योगी व श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास तथा ट्रस्ट के अन्य सदस्यों के भी उपस्थित रहेंगे। योगी द्वारा रामलला नए अस्थाई मंदिर में पूजन के बाद रामलला का अस्थायी मंदिर आम लोगों के दर्शन पूजन के लिए खोल दिया जाएगा। अयोध्या जिला प्रशासन और राम जन्मभूमि क्षेत्र के ट्रस्ट ने रामलला को शिफ्ट करने के लिए तैयारियां तेज कर दी हैं। अस्थाई मंदिर का चबूतरा बनने के बाद दीवार भी बनाई जा रही है।सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के साथ-साथ श्रद्धालुओं के रामलला के दर्शन के लिए रास्ते भी सुलभ बनाए जा रहे हैं। अब रास्ते की दूरी भी कम होंगी और रमलला के दर्शन पहले से ज्यादा नजदीक से होंगे। राम मंदिर पर सुप्रीम फैसला आने के बाद राम जन्म भूमि की सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है।रामलला के नए अस्थाई मंदिर में स्थित होने के बाद राम मंदिर निर्माण की तिथि ट्रस्ट द्वारा 4 अप्रैल को होने वाली दूसरी बैठक में तय होने की उम्मीद की जा रही है। सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम तय होने के बाद राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन तिथि सुनिश्चित की जायेगी।