" /> नहीं खेलूंगा

नहीं खेलूंगा

कोई महान खिलाड़ी कहे कि मैं नहीं खेलूंगा तो उसके प्रशंसकों में निराशा छा जाती है। टेनिस के दिग्गज नोवाक जोकोविच ने कह दिया कि वो नहीं खेल पाएंगे। दरअसल, अपने एड्रिया टूर के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हुए विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने अपनी आलोचना करनेवालों को आड़े हाथों लिया है और साथ ही कहा है कि उनका ३१ अगस्त से १३ सितंबर तक होनेवाले यूएस ओपन में भाग लेना संदिग्ध है। कोरोना के बीच जोकोविच ने चार चरणों के एड्रिया टूर का आयोजन किया था, जिसमें पहले दो चरणों के दौरान जोकोविच, उनके हमवतन खिलाड़ी विक्टर ट्रायकी, बुल्गारिया के ग्रिगोर दिमित्रोव और क्रोएशिया के बोर्ना कोरिच कोरोना से संक्रमित हो गए जिसके बाद दूसरे चरण के फाइनल और शेष दो चरणों को रद्द करना पड़ गया। जोकोविच इसके बाद आलोचना के शिकार हो गए और आलोचक उन्हें गैर जिम्मेदार ठहरा रहे थे लेकिन जोकोविच ने आलोचकों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जानबूझकर ऐसी आलोचना की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह आलोचना नहीं बल्कि एक एजेंडा है। उन्होंने कहा कि आलोचकों को कोई बड़ा नाम चाहिए था और उन्होंने मुझे ही जिम्मेदार ठहराना शुरू कर दिया। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने यूएस ओपन में खेलने के बारे में कोई फैसला नहीं किया है क्योंकि अमेरिका और न्यूयार्क में कोरोना मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। जोकोविच मंगलवार को ट्रायकी के साथ ट्रेनिंग पर लौट आए हैं। जोकोविच का पिछले सप्ताह दूसरा टेस्ट नेगेटिव आया था। उन्होंने कहा कि मेरी मंशा साफ थी। मैं खिलाड़ियों और अपने क्षेत्र के टेनिस संघों की मदद के लिए टूर्नामेंट आयोजित करना चाहता था। हमने सभी नियमों का पालन किया था, लेकिन हमने साथ ही सबक भी सीखा है।