नहीं होगा मेट्रो का मॉनसून ग्रहण

मुंबई में मेट्रो का काम काफी तेजी से चल रहा है। पिछले साल मुंबई में चल रहे मेट्रो निर्माण कार्य के चलते मॉनसून के दौरान मुंबईकरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। मेट्रो निर्माण के चलते जहां-तहां ट्रैफिक जाम की समस्याएं देखी जा रही थीं लेकिन इस बार मुंबईकरों पर मेट्रो का मॉनसून ग्रहण नहीं होगा। मेट्रो निर्माण की साइटों पर मॉनसून के पानी से बचने के लिए इस बार एमएमआरडीए ने कमर कस ली है। प्रशासन ने इस बार ७५ अभियंता और १५० कर्मियों का एक ब्रिगेड तैयार किया है, जो मेट्रो साइटों पर तैनात रहेंगे।

एमएमआरडीए के अधिकारियों के अनुसार मुंबई में दहिसर से डीएन नगर मेट्रो-२ए, डीएन नगर से मानखुर्द मेट्रो-२बी, वडाला से कासारवडवली मेट्रो-४, स्वामी समर्थ नगर से विक्रोली मेट्रो-६ और अंधेरी (पूर्व) से दहिसर (पूर्व) मेट्रो-७ इन ५ मेट्रो कॉरिडोर का काम काफी जोरों से चल रहा है। इन मेट्रो निर्माण साइटों पर नाला सफाई और सड़कों के आसपास की सफाई ७५ अभियंता और १५० कर्मियों का ब्रिगेड करेगा। एमएमआरडीए के कमिश्नर आरए राजीव का कहना है कि मेट्रो निर्माण की जगहों पर एक वाहन तैनात रहेगा, जिसमें उपयुक्त यंत्र सामग्री और कर्मचारी मौजूद रहेंगे। मॉनसून के दौरान ड्रिलिंग और पाइलिंग काम चलने से सड़कों पर कीचड़ न आए इसलिए आवश्यकता अनुसार यंत्र मौजूद रहेंगे। इतना ही नहीं काम के दौरान सड़क खराब होने या फिर रास्तों पर गड्ढे होने पर तुरंत भरे जाएंगे। इसके अलावा मेट्रो साइट पर ३० पंप भी लगाएं जाएंगे।

जानकारी के अनुसार एमएमआरडीए प्रशासन ने मॉनसून के दौरान २३.५ किमी के इस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे और २५.३ किमी के वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे की देखभाल करने के लिए १० अभियंता, ३० कर्मचारी और १२ वॉटर पंप की व्यवस्था की है।