" /> नाई-पंडित परेशान नाम न बताना यजमान

नाई-पंडित परेशान नाम न बताना यजमान

दुख: की घड़ी में अंतिम संस्कार के समय क्रिया-कर्म कराना भी लोगों को भारी पड़ गया है। घीया मंडी क्षेत्र में एक चिकित्सक के अंतिम संस्कार में क्रिया-कर्म कराना उनको भारी पड़ गया। उनकी अंत्येष्टि में शामिल होनेवाला हर शख्स कह रहा है कि चिकित्सकों की टीम को हमारे अंतिम संस्कार में शामिल होने की जानकारी नहीं होनी चाहिए वरना हमें वह क्वारंटीन कर देंगे।

दरअसल कुछ दिन पहले घीया मंडी के एक रसूखदार चिकित्सक की मौत हो गई। उनका तथा उनके पुत्र का इलाज के दौरान अस्पताल में कोरोना परीक्षण हुआ। पिता तो निगेटिव आए लेकिन चिकित्सक पुत्र पॉजिटिव आ गए। यह जानकारी उस समय लगी जब पिता का अंतिम संस्कार हो रहा था और अंत्येष्टि में नाई से लेकर पंडित तथा अन्य निकटस्थ लोग शामिल थे।

जानकारी लगते ही अंत्येष्टि में शामिल लोगों में हड़कंप मच गया। यह लोग सूचना मिलते ही वहां से खिसक लिए। बाद मेें जब यह लोग खुले में घूमने लगे तो लोगों ने इसका विरोध स्थानीय लोगों ने किया तथा स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी। सूचना पर सक्रिय हुए स्वास्थ्य विभाग ने जब इस मामले में पूछताछ करनी शुरू की तो अंत्येष्टि में शामिल सही लोगों की जानकारी करने में काफी मुश्किल होने लगी, जिसका कारण चिकित्सक के पुत्र द्वारा भी लोगों की इच्छा के अनुरूप उनके नाम न बताना शामिल है।

उधर चिकित्सकों की टीम इस अंत्येष्टि में शामिल होनेवाले नाई तथा पंडित को भी तलाश कर रही है। उनका कहना है कि हमें अभी बहुत कम लोग ऐसे मिले हैं, जो कि इस अंत्येष्टि में शामिल हुए थे।