नाणार रिफायनरी रद्द करने की प्रक्रिया जल्द पूरी करेंगे, नाणारवासियों को उद्धव ठाकरे का आश्वासन

नाणार प्रकल्प रद्द होना ही चाहिए। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की इस स्पष्ट भूमिका के कारण मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस योजना को अन्यत्र हटाने की घोषणा की है। इस घोषणा के कारण रिफायनरी परिसर के गांववालों में आनंद का वातावरण है। कल उद्धव ठाकरे से गांववालों ने मुलाकात कर आभार प्रकट किया। इस प्रकल्प को रद्द करने के लिए अध्यादेश निकालने की मांग पर उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री से फोन पर चर्चा की और कहा कि प्रकल्प को रद्द करने के विषय में प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी।
नाणारवासियों के विरोधवाले इस प्रकल्प को अन्यत्र हटाया जाएगा, ऐसा आश्वासन मुख्यमंत्री ने उद्धव ठाकरे को सोमवार को दिया था। इस बात का आभार प्रकट करने के लिए नाणारवासियों के शिष्टमंडल ने कल ‘मातोश्री’ निवासस्थान पर उद्धव ठाकरे से मुलाकात की। इस अवसर पर पर्यावरण मंत्री रामदास कदम, शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर भी उपस्थित थे। ‘रिफायनरी विरोधी संघर्ष समिति’ के अशोक वालम, ‘जैतापुर अणु ऊर्जा विरोधी संघर्ष समिति’ के अध्यक्ष सत्यजीत चव्हाण, नितिन जठार, गिरीश मुंडे आदि शिष्टमंडल के सदस्यों ने उद्धव ठाकरे को पुष्पगुच्छ देकर आभार प्रकट किया। सातबारा की जमीन अधिग्रहित होने के कारण फल बागदारों को कर्ज नहीं मिलने की बात नाणारवासियों ने उद्धव ठाकरे को बताई। यह प्रकल्प रद्द करने की घोषणा की गई है तो तत्काल अध्यादेश निकालने की मांग नाणारवासियों ने की। इस पर उद्धव ठाकरे ने तत्काल मुख्यमंत्री से फोन पर चर्चा की। इस प्रकल्प को रद्द करने की कार्यवाही जल्द पूरी की जाएगी। आगामी मंत्रिमंडल की बैठक में इस विषय पर तकनीकी कारणों को लेकर चर्चा करके प्रकल्प को रद्द किया जाएगा, ऐसा आश्वासन उद्धव ठाकरे ने दिया है। ऐसी जानकारी अशोक वालम, नितिन जठार ने दी।