" /> नाबालिग ने चढ़ाई बड़ों की बलि

नाबालिग ने चढ़ाई बड़ों की बलि

कल्याण के अटाली गांव स्थित गणेश नगर में भूत-प्रेत और जादू-टोना के शक में एक नाबालिग ने अपनी दादी और पिता की अन्य तीन लोगों के साथ पीट-पीटकर हत्या कर दी। अंधश्रद्धा के चक्कर में शनिवार की रात घटी नरबलि की इस घटना का खुलासा कल्याण की खड़कपाड़ा पुलिस ने किया है। तांत्रिक के बहकावे में आकर की गई हत्या के इस जघन्य मामले में मृतकों के शरीर पर पहले हल्दी-चंदन का लेप लगाया गया। बाद में उन्हें बेरहमी से पीटा गया। अटाली गांव में तंत्र मंत्र के चक्कर में हुए इस दोहरे हत्याकांड में तांत्रिक सहित चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
बता दें कि कल्याण के अटाली स्थित शिव चंद्र सदन में रहनेवाले एक १७ वर्षीय नाबालिग ने अपने ५० वर्षीय पिता पंढरीनाथ शिवराम तरे और ७३ वर्षीय दादी चंदूबाई शिवराम तरे की हत्या कर दी। हत्या के आरोप में पुलिस ने नाबालिग पोते समेत तांत्रिक सुरेंद्र पाटील (३५), विनायक वैâलाश तरे (२२) और कविता वैâलाश तरे (२७) नामक चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी विनायक एवं कविता तरे सगे भाई बहन हैं तथा मृतक के भांजे व भांजी हैं। बताया जाता है कि तांत्रिक सुरेंद्र पाटील ने मृतकों के शरीर मे भूत प्रेत होने का दावा किया था और काफी दिनों से मृतकों की झाड़-फूंक कराई जा रही थी। शनिवार की रात पहले मृतकों के शरीर पर हल्दी-चंदन का लेप लगाया गया और भूत-प्रेत उतारने के चक्कर में पंढरीनाथ शिवराम तरे और चंदूबाई शिवराम तरे की उक्त सभी ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। कल्याण की खड़कपाड़ा पुलिस हत्या और अंधविश्वास का मामला दर्ज कर घटना की जांच कर रही है। फिलहाल आरोपियों को कोर्ट ने तीन दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है।