" /> नाबालिग से दुष्कर्म में 10 वर्ष का कारावास

नाबालिग से दुष्कर्म में 10 वर्ष का कारावास

नाबालिग से दुष्कर्म में अपर सत्र न्यायाधीश / विशेष न्यायाधीश (पोक्सो एक्ट) ने आरोपित को 10 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है। 18 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित भी किया है।
पीड़िता के बाबा ने थाना जमुनापार में एफआआआर कराई थी कि उनकी 16 वर्षीय नातिन छह दिसंबर 2014 को घर से कालेज पढ़ने गई थी। शाम तक घर न आने पर तलाश की थी, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। उसी दिन मुहल्ले का कुलदीप उर्फ सीटू घर से गायब हो गया। प्रकाश में आया कि नातिन को कुलदीप भगा ले गया है। कुलदीप और कुछ अज्ञात के खिलाफ एफआईआर कराई गई, लेकिन जांच में कुलदीप का नाम सामने आया। डीजीसी अलका उपमन्यु, एडीजीसी अभिषेक कुमार सिंह ने बताया कि इस प्रकरण की सुनवाई अपर सत्र न्यायाधीश / विशेष न्यायाधीश (पोक्सो एक्ट) अंचल लवानिया की अदालत में हुई। सभी पक्ष सुनने के बाद पुलिस ने कुलदीप को दस वर्ष की सजा सुनाई है। 18 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है।