नाराज विधायकों को मंत्री बनाए जाने का आश्वासन, कर्नाटक में १८ को कांग्रेसियों की बैठक

कर्नाटक में तेजी से बदलते सियासी घटनाक्रम के बीच कांग्रेस ने १८ जनवरी को अपने विधायकों की बंगलुरु में बैठक बुलाई है। इसके अलावा, पार्टी ने नाराज विधायकों को मनाने के लिए उन्हें मंत्री बनाए जाने का आश्वासन भी दिया है। २ निर्दलीय विधायकों द्वारा कुमारस्वामी सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद हरकत में आई कांग्रेस ने अपने विधायकों को ‘सुरक्षित’ रखने की कोशिश शुरू कर दी है, वहीं मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने बुधवार को कांग्रेस नेताओं से मुलाकात कर मौजूदा सियासी हालात से निपटने की रणनीति को लेकर चर्चा की।
मुनियप्पा ने कल असंतुष्ट विधायकों को यह भरोसा दिलाने की कोशिश की कि उन्हें भी अगले वैâबिनेट विस्तार में मौका दिया जाएगा। मुनियप्पा ने कहा कि मैं उन सबको वापस आने का न्योता देता हूं जो पाला बदल चुके हैं, आप फिक्र न करें। दूसरी पीढ़ी के जिन कांग्रेसियों ने चुनाव जीता है, उन्हें असुरक्षित महसूस नहीं करना चाहिए। राहुल गांधी और के. सी. वेणुगोपाल आपकी शिकायतों से वाकिफ हैं, आपको अगले वैâबिनेट विस्तार में मौका दिया जाएगा। बता दें कि २ निर्दलीय विधायकों ने मंगलवार को कुमारस्वामी की अगुआई वाली कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार से समर्थन वापसी का ऐलान कर दिया। इसके बाद से सूबे में सियासी हलचल काफी बढ़ गई है।