नालों पर गश्त!,  मनपा-पुलिस की स्पेशल २४  कचरा फेंकने पर जुर्माना `१,२००

मुंबई पुलिस के जवान अब नालों पर भी गश्त करते हुए देखे जा सकेंगे। यह गश्त किसी अपराधी को पकड़ने के लिए नहीं बल्कि नालों में कचरा फेंकनेवालों को दबोचने के लिए की जाएगी। नाले से सटे परिसर के निवासियों द्वारा नालों में कचरा न फेंका जाए इसके लिए मनपा आयुक्त ने मुंबई शहर और उपनगरों के लिए स्पेशल २४ का गठन किया है। मनपा के २४ प्रशासनिक वॉर्ड में इस टीम का गठन किया गया है, जिसमें मनपा अधिकारियों के अलावा पुलिस के अधिकारी भी शामिल रहेंगे। नाले में कचरा फेंकते हुए पाए जाने पर दोषियों पर मुंबई पुलिस एक्ट १९५१ के तहत अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी, जिसमें १,२०० रुपए तक के दंड का प्रावधान है।
बता दें कि मॉनसून पूर्व नालों की सफाई की जाती है। इसके बावजूद नाले से सटे परिसर के लोग इन नालों में कचरा फेंकते हैं। इन कचरों के चलते मॉनसून में इलाके में गंदगी और जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। इसे मनपा आयुक्त प्रवीण परदेशी ने गंभीरता से लिया है। आयुक्त के आदेश पर मनपा के २४ प्रशासनिक वॉर्डों में २४ गश्ती पथकों का गठन किया गया है। घनकचरा व्यवस्थापन के सहआयुक्त अशोक खैरे ने बताया कि ये पथक नालों से सटे परिसरों, रेलवे स्टेशन से सटे भीड़भाड़ वाले इलाकों, रेलवे ट्रैक से सटी झोपड़ट्टियों आदि सार्वजनिक जगहों पर गश्त करेगा। इस पथक में शामिल कर्मचारियों को परिमंडल स्तर पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मुंबई में स्वच्छता बेहतर हो, इस उद्देश्य से मुंबई पुलिस के स्तर पर समन्वय बनाकर कार्रवाई करने का निर्देश आयुक्त ने संबंधित मनपा अधिकारियों को दिया है। इसके तहत समन्वय के लिए मनपा की ओर से घनकचरा व्यवस्थापन विभाग के विशेष कार्याधिकारी सुभाष दलवी और पुलिस की ओर से समन्वय अधिकारी के रूप में पुलिस उपायुक्त (ऑपरेशन) की नियुक्ति की गई है।