ना सिर्फ बीच वॉरियर, हम पैडमैन भी हैं

मुंबई के सुमद्री तटों को चमकानेवाले बीच वॉरियर सैकड़ों महिलाओं के जीवन को भी चमकाने का प्रयास कर रहे हैं। आज भी जहां महिलाएं मासिक धर्म के बारे में खुलकर बातें करने से कतराती हैं, वहां बीच वॉरियर्स के चीनू क्वात्रा का दल ‘नारी शक्ति’ महिलाओं को इस बारे में शिक्षित करने और इकोप्रâेंडली सेनेटरी पैड्स बांटकर उनके जीवन को खुशियों से भरने में जुटा है।
बता दें कि आज भी हिंदुस्थान में मात्र १२ प्रतिशत महिलाओं द्वारा सेनेटरी नैपकिन्स का उपयोग किया जाता है, इसके अलावा अन्य महिलाएं अपने मासिक धर्म के इस समय में अस्वच्छ कपड़ों का इस्तेमाल करके अनेक बीमारियों को जन्म देती हैं। ऐसे में पेडमैन फिल्म के लक्ष्मीकांत चौहान (अक्षय कुमार) की ही तरह चीनू क्वात्रा का भी प्रयास गांवों और पिछड़े इलाकों की महिलाओं तक पहुंचकर उनको इस बारे में शिक्षित करना तथा उनकी मदद करना है। नारीशक्ति दल द्वारा हर महीने ठाणे, मानखुर्द और ऐरोली के पिछड़े और गरीब परिवारों की महिलाओं को मुफ्त में सेनेटरी नैपकिन्स दिए जाते हैं। यह दल अभी तक ५५५ महिलाओं को प्रतिमाह पैड बांटता है। चीनू का कहना है कि वे ऐसी पिछड़े परिवारों की १००० महिलाओं तक पहुंचना चाहते हैं। चीनू ने बताया कि मार्वेâटिंग की जॉब को छोड़कर हजारों महिलाओं और बच्चों तक पहुंचकर उनकी मदद करने की राह चुनी। चीनू के इस दल में १५ से २० युवा हैं, जो कि महिलाओं की मदद करने की पूरी कोशिश करते हैं। चीनू द्वारा बांटे जानेवाले इकोप्रâेंडली सेनेट्री नैपकिन्स प्रति पैकेट की कीमत ३० रुपए है। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति ३६० रुपए एक साल में खर्च करके एक महिला को स्वच्छता भरी खुशियां दे सकता है।