" /> निखरेगी श्री काशी विश्वनाथ के दरबार की छटा, मकराना मार्बल पर उकेरी जाएगी विशेष आकृतियां

निखरेगी श्री काशी विश्वनाथ के दरबार की छटा, मकराना मार्बल पर उकेरी जाएगी विशेष आकृतियां

इन दिनों काशी विश्वनाथ का सुंदरीकरण और विस्तारीकरण का कार्य जोरों पर है। बाबा दरबार गंगधार से मिलकर संपूर्ण काशी विश्वनाथ धाम के रूप में नजर आएगा तो मुख्य परिसर का भी रूप रंग अलग निखर कर सामने आएगा। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर से जला सेन ललिता व मणिकर्णिका घाट तक बनाए जा रहे भव्य कॉरिडोर की दीवारों पर विभिन्न आकृतियां होंगी।

बता दें विश्वनाथ कॉरिडोर के मुख्य परिसर में काशी विश्वनाथ गंगे और शिव परिवार का दिव्य दर्शन श्रद्धालुओं को होगा। इसके लिए फर्श के साथ दीवारों पर भी मकराना मार्बल लगाया जाएगा और इस पर विभिन्न झांकियां उकेरी जाएगी। इसमें काशी से शिव का रिश्ता व सती प्रसंग को उकेरा जायेगा। इस नक्काशी को करने के लिए राजस्थान के 10 कारीगर का दल लगाया जाएगा।

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण व सुंदरीकरण परियोजना के तहत गंगा तट तक काशी विश्वनाथ धाम को आकार दिया जा रहा है। इसमें मुख्य परिसर की लंबाई 3 मीटर बढ़ाते हुए 74 मीटर गुणा 42 मीटर तक विस्तार दिया जा रहा है। बाबा का गर्भ गृह और चारों ओर जब तप  के लिए गलियां होंगे। गलियारे की ये दीवार चुनाव के पत्थरों से बनाई जा रही है जिस पर मार्बल पर उकेरी गई आकृतियां लगाई जाएंगी।
हालांकि पहले भी दीवारों पर विभिन्न आकृतियां थी लेकिन वो स्पष्ट नहीं थी। वहीं भीड़ होने की वजह से श्रद्धालु ठीक से उन आकृतियों को देख नहीं पाते थे। इसी लिए विस्तारीकरण करके दीवारों को फिर से बनाया जा रहा है ताकी ज्यादा जगह रहे और वहां आने वाले मंदिर की छटा का पूरा अवलोकन कर सके।