निरुपम हटाओ देवरा लाओ, कांग्रेसी कलह

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम के खिलाफ सभी विरोधी लामबंद हो गए हैं। सभी विरोधियों की एक ही मांग है कि कांग्रेस को मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में जीतना है तो निरुपम की हकालपट्टी करके उनकी जगह पर मिलिंद देवरा को मुंबई अध्यक्ष बनाया जाए। निरुपम के विरोध में मिलिंद देवरा के अलावा नसीम खान, कृपाशंकर सिंह, कामत गुट के लोगों ने कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से मिलकर निरुपम की हकालपट्टी की मांग की है। मुंबई कांग्रेस में चल रहे कलह से तंग आकर मिलिंद देवरा ने लोकसभा चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है। उनका कहना है कि निरुपम के रहते मुंबई में लोकसभा की एक भी सीट जीतना असंभव है। निरुपम को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में नाराजगी है। कांग्रेस की पूर्व सांसद प्रिया दत्त ने भी मुंबई कांग्रेस में चल रही गुटबाजी से तंग आकर पिछले दिनों लोकसभा चुनाव न लड़ने की घोषणा कर दी थी। नसीम खान ने तो कांग्रेस कमेटी की बैठक में ही निरुपम का खुलेआम विरोध किया था। कृपाशंकर सिंह तो निरुपम के कारण मुंबई कांग्रेस कार्यालय में जाना भी उचित नहीं समझते। इतना ही नहीं मनपा चुनाव में वे पूरी तरह चुनाव से दूर थे। उन्होंने अपने समर्थकों के अलावा किसी भी उम्मीदवार का प्रचार नहीं किया था।