निर्विरोध चुने जा सकते हैं  महायुति के उम्मीदवार

विधानपरिषद के पूर्व सभापति शिवाजीराव देशमुख के निधन के बाद हो रहे उपचुनाव में शिवसेना-भाजपा महायुति के उम्मीदवार पृथ्वीराज देशमुख को निर्विरोध चुने जाने की पूरी संभावना है। विधानसभा में शिवसेना-भाजपा के अधिक सदस्य होने के कारण कांग्रेस यह चुनाव लड़ेगी, इसकी संभावना कम दिखाई दे रही है। भाजपा ने पृथ्वीराज देशमुख को उम्मीदवार घोषित किया है। विधानसभा में कुल २८८ जगहों में से शिवसेना ६३, भाजपा के १२२, कांग्रेस के ४२, राकांपा के ४०, निर्दलीय ७ और अन्य छोटे दलों को मिलाकर १३ विधायक हैं। राकांपा के एक विधायक के निधन होने के कारण राकांपा के विधायकों की संख्या ४१ की जगह ४० हो गई है। पृथ्वीराज देशमुख मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के करीबी हैं इसलिए पूरी संभावना है कि विधानसभा में संख्याबल को देखते हुए कांग्रेस उम्मीदवार खड़ा न करे और देशमुख निर्विरोध चुन लिए जाएं।