" /> ‘निसर्ग’ से निपटने को तैयार!

‘निसर्ग’ से निपटने को तैयार!

मौसम विभाग द्वारा अरब सागर में ‘निसर्ग’ नामक तूफान आने की दी गई चेतावनी के बाद मुंबई से सटे भाइंदर (पश्चिम) के उत्तन सागरी तट पर एनडीआरएफ, स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग के जवानों को तैनात कर दिया गया है। स्थानीय पुलिस दल ने गश्त बढ़ा दी है और लोगों को सुरक्षित स्थान पर चले जाने की सलाह दी है, ऐसी जानकारी स्थानीय शिवसेना नगरसेविका शर्मिला बगाजी ने दी है।

अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने से इसका असर मंगलवार को मुंबई सहित इसके आसपास के तटीय क्षेत्रों पर पड़ने की संभावना व्यक्त की गई है। ‘निसर्ग’ नाम के इस तूफान के दो दिनों में महाराष्ट्र-गुजरात के तट से टकराने की उम्मीद है। इस दौरान १२० किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी और बारिश होगी। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अरब सागर के लिए दोहरे दबाव का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा, जो ३ जून तक गुजरात और उत्तर महाराष्ट्र के तटों की ओर बढ़ेगा। इसके अनुसार अरब सागर के ऊपर दो तूफान बन रहे हैं, जिसमें से एक अप्रâीकी तट से लगे समुद्र क्षेत्र के ऊपर है, वो ओमान और यमन की ओर बढ़ सकता है, जबकि दूसरा हिंदुस्थान के करीब है। तूफान की आशंका के चलते मछुआरों को सागर किनारे न जाने की सलाह दी गई है। हालांकि, मौसम विभाग के मुताबिक इस तूफान का केंद्र ओमान के पास है लेकिन इसका असर महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय इलाकों में होने की संभावना है। इसकी वजह से दक्षिण-मध्य गुजरात एवं सौराष्ट्र में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना है। माना जा रहा है कि जब ये तूफान तट से टकराएगा तो उस वक्त हवा की गति १२० किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है।

वसई की तेरह नावों में फंसे १५६ मछुआरे बचाने के प्रयास में जुटा जिला प्रशासन
पालघर
अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के अगले कुछ ही घंटों में पश्चिमी तट से टकराने की आशंका जताई जा रही है। मौसम विभाग द्वारा इस खतरे के मद्देनजर दी गई चेतावनी से पालघर जिला प्रशासन हरकत में आ गया है। प्रशासन ने समुद्र तट से सटे गांवों व मछुआरों को बचाने के लिए अग्निशमन दल, तटरक्षक दल, एनडीआरएफ की टीमें वसई, पालघर, डहाणू तालुका स्थित तटीय इलाकों में तैनात कर दी गई हैं। नतीजतन मछुआरों और तटीय निवासियों को विशेष सावधानी बरतने और मिट्टी के घरों में रहनेवालों लोगो को आस पास के स्कूलों में स्थानांतरित किया जा रहा है। पालघर के जिला अधिकारी वैâलाश शिंदे ने समुद्र में मछली पकड़ने गए मछुआरों को वापस बुलाया है। समुद्र के अंदर गई ५७७ नौकाओं में ज्यादातर वापस लौट आई हैं लेकिन १३ नावों में सवार १५६ मछुवारे अभी भी समुद्र में फंसे हुए हैं, जिनको सुरक्षित बचाकर वापस लाने के लिए जिला प्रशासन प्रयास कर रहा है। भयानक चक्रवर्ती तूफान के खतरे को भांपते हुए परिपत्रक जाहिर करके अत्यावश्यक चीजों की दुकानों को छोड़कर जिले की सभी दुकानों होटलों, उद्योग-कंपनियाों को ३ जून को बंद रखने का आदेश दिया गया है।