" /> नेपाल सरहद व अयोध्या के जलमार्ग निगरानी में, मंदिर भूमिपूजन को लेकर बढ़ी चौकसी

नेपाल सरहद व अयोध्या के जलमार्ग निगरानी में, मंदिर भूमिपूजन को लेकर बढ़ी चौकसी

• बस्ती परिक्षेत्र के जिले व नजदीकी अंतरराष्ट्रीय सीमा खास निगरानी में।

अयोध्या में ५अगस्त को श्रीरामजन्मभूमि मंदिर भूमिपूजन को सरहद से सटे बस्ती परिक्षेत्र के जिलों में पुलिस हाई अलर्ट पर आ गई है। अयोध्या को जाने वाले सभी जलमार्गों पर भी जलपुलिस की तैनाती कर दी गई है। वहीं नेपाल सरहद कड़ी निगरानी में है। खुद पुलिस महानिरीक्षक स्थिति को मॉनिटर कर रहे हैं। जगह- जगह सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं।

अयोध्या से सटा हुआ है यूपी के पूर्वांचल का बस्ती मंडल। जिसके अंतर्गत आने वाला सिद्धार्थनगर जनपद पड़ोसी देश नेपाल की सरहद पर है। मौजूदा समय में नेपाल से भारत के संबंध भी सामान्य नहीं हैं। इसे देखते हुए ज्यों- ज्यों भूमिपूजन की तिथि करीब आ रही है अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भारतीय सशस्त्र बल व सुरक्षा एजेंसियों की चहलकदमी बढ़ती जा रही है । जल मार्ग पर भी पुलिस की चौकसी तेज हो गई है। राममंदिर के भूमिपूजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी आगमन प्रस्तावित है। सिर्फ तीन दिन शेष हैं। जिसे देखते हुए प्रशासन पूरी चौकसी बरत रहा है। पूर्वी दिशा पर पुलिस-प्रशासन खास नजर रख रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग सहित बस्ती परिक्षेत्र के सभी छोटे-बडे़ प्रवेश मार्गों पर बैरिकेडिंग की जा चुकी है। पूछताछ व बगैर चेकिंग निर्बाध अयोध्या की सीमा में दाखिला सामान्य जन के लिए कठिन होता जा रहा है। जल मार्गों पर कडी निगरानी के लिए पीएसी व जल पुलिस की तैनाती की जा रही है। आईजी अनिल कुमार राय खुद व्यवस्था मॉनिटर कर रहे हैं। उन्होंने राजमार्गों पर पुलिस व्यवस्था का शनिवार को मुआयना किया। अयोध्या व बस्ती जिलों से होकर बह रही सरयू नदी के जलमार्ग का भी उन्होंने निरीक्षण किया। सुरक्षाकर्मियों को हिदायत दी कि एक भी संदिग्ध व्यक्ति सरहद में प्रवेश न कर पाए। इसका खास ध्यान रखा जाय। इस दौरान कोई भी सामूहिक कार्यक्रम कहीं भी आयोजित नहीं किया जाएगा।