नो पार्किंग में पार्किंग का पंगा, भरना होगा रु. १० हजार दंड

अवैध पार्किंग की समस्या को लेकर मनपा आयुक्त प्रवीण परदेशी ने बड़ा कदम उठाया है।पार्किंग स्थल से एक किमी के परिसर और दो प्रमुख रास्तों को जोड़नेवाले छोटे मार्गों को मनपा ने ‘नो पार्किंग’ जोन करार दिया है। अब ‘नो पार्किंग’ जोन में गाड़ी पार्क करने पर वाहन चालकों से १० हजार रुपए दंड वसूला जाएगा। यह दंड सेना के पूर्व सैनिक वसूलते हुए देखे जा सकेंगे। यह कार्रवाई सात जून से लागू हो जाएगी।
बता दें कि शहर और उपनगरों में यातायात सुगम रहे इसके लिए मनपा हमेशा प्रयासरत रही है। मनपा ने १४६ जगहों पर ३४ हजार ८०८ वाहन पार्किंग की सुविधा उपलब्ध कराई है। इसके बावजूद लोग सड़कों पर वाहनों की अवैध पार्किंग करते हैं। इससे निपटने के लिए मनपा प्रशासन ने रुपरेखा तैयार की है। इसके तहत पार्विंâग स्थल से एक किमी दूर तक के परिसर और दो महत्वपूर्ण मार्गों को जोड़नेवाले छोटी सड़कों को नो पार्विंâग जोन करार दिया है। नो पार्किंग जोन में पार्क किए गए वाहनों के मालिकों को दंडित करने के लिए ठेकेदार नियुक्त करने का आदेश सभी २४ प्रशासनिक वॉर्डों के सहायक आयुक्तों को दिया गया है। साथ ही ठेकेदारों को इस कार्य के लिए सेना के पूर्व जवानों को ही नियुक्त करने के लिए कहा गया है। जवानों की नियुक्ति अनिवार्य है। इसके अलावा अवैध पार्किंग करनेवाले वाहनों पर कार्रवाई करने के लिए ट्रैफिक पुलिस को किराए पर टोइंग मशीन उपलब्ध कराने का भी निर्देश आयुक्त ने दिया है।