पंकजा को मंत्रालय में घुसने से रोका

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने धनगर समाज को आरक्षण देने की घोषणा की थी। भाजपा सरकार का पांच वर्ष पूरा होनेवाला है परंतु धनगर समाज को आरक्षण नहीं मिला। गत सोमवार को ग्राम विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने घोषणा की थी कि धनगर समाज को आरक्षण दिए बिना मंत्रालय की सीढ़ी पर पांव नहीं रखूंगी। उक्त घोषणा के २४ घंटे पूर्ण होने से पहले ही पंकजा मुंडे मंत्रालय की सीढ़ी पर पांव रखनेवाली थीं कि धनगर समाज के नेता व राकांपा विधायक रामराव वडकुते ने पंकजा मुंडे को मंत्रालय में घुसने से रोक दिया और कहा कि आपने जो बोला था, उसके विपरीत काम कर रही हैं। आप धनगर समाज को फंसाने का काम कर रही हैं। इस पर पंकजा मुंडे ने कहा कि लोगों का काम कौन करेगा? मैं वापस जाऊं क्या? फिर पंकजा मुंडे अपनी घोषणा से मुकर गई कि ऐसा मैंने धनगर समाज की सभा में नहीं बोला था। बाद में उन्होंने पत्रकारों से कहा कि २०१४ में धनगर समाज के समर्थन से भाजपा सरकार सत्ता में आई थी। धनगर समाज को आरक्षण दिए बिना भाजपा पुन: सत्ता में नहीं आ सकती।