पटरी पर लौटेंगे पीयूष, हवाई जहाज से आएंगे-राजधानी से जाएंगे

रेल मंत्री पीयूष गोयल की हवाई यात्रा पिछले कुछ समय से विवादों में रही है। रेल मंत्रालय बार-बार नियमों को तोड़कर पीयूष गोयल को हवाई सफर के लिए चार्टर्ड प्लेन मुहैया करता रहा है, जिसका भार परोक्ष रूप से देश के करदाताओं पर पड़ रहा है। इसी विवाद के चलते अब रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने हवाई सफर का रुख रेल सफर की ओर मोड़ लिया है। माना जा रहा है कि इन सभी विवादों से बचने के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल सोमवार को मुंबई से दिल्ली राजधानी से रेल का सफर तय करेंगे। साथ ही वे अपने साथ एक गणेश जी की प्रतिमा भी लेकर जाएंगे।

जीएम, डीआरएम से लेकर स्टेशन डायरेक्टर इन दिनों मुंबई सेंट्रल स्टेशन टर्मिनस का परेड कर रहे हैं। ये परेड रेल मंत्री पीयूष गोयल के रेल सफर को लेकर हो रही है। दरअसल पीयूष गोयल सोमवार को मुंबई से दिल्ली राजधानी ट्रेन का सफर करेंगे। उनके रेल सफर और आवभगत में कोई कमी न रह जाए इसलिए यह कवायद इन दिनों रेल अधिकारी कर रहे हैं। रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रेल मंत्री पीयूष गोयल ट्रेन संख्या १२९५१ से मुंबई सेंट्रल-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस से शाम ५ बजे मुंबई से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। सूत्रों का कहना है कि पीयूष गोयल के अचानक रेल सफर के पीछे की वजह पिछले दिनों उनके हवाई सफर को लेकर हुआ विवाद और लाखों रुपए का खर्चा हो सकता है। रेल मंत्री रेल सफर के बजाय हवाई सफर पर ज्यादा ध्यान देते हैं क्योंकि उनके तीन से चार दिन के हवाई सफर का खर्च २० से २५ लाख रुपए हो रहे थे।

रेलवे के नियम के अनुसार रेल मंत्री आधिकारिक दौरे के लिए चार्टर्ड प्लेन का इस्तेमाल नहीं कर सकता जब तक उसका यह दौरा किसी रेल दुर्घटना स्थल का न हो। सरकारी नियम के अनुसार यह भी है कि मंत्री हवाई सफर के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट ही ले सकते हैं। केवल आपातकालीन स्थिति में ही मंत्री चार्टर्ड प्लेन का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन रेल मंत्री पीयूष गोयल अपने हवाई सफर के लिए निजी हवाई जहाज कंपनी की ही सेवा लेते हैं जो कि सरकारी और रेलवे नियम के खिलाफ है।