" /> पति भी नहीं मिला, पैसा भी गया!

पति भी नहीं मिला, पैसा भी गया!

– दूसरी शादी के चक्कर में गंवाए ३१ लाख रुपए

– ऑनलाइन शादी की आफत

आजकल के अपराधी नए-नए तरीकों से लोगों को ठगने की कोशिश कर रहे हैं। जैसे-जैसे इंटरनेट का चलन बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे धोखाधड़ी के मामले में भी वृद्धि देखी जा रही है। ऐसे ही एक ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार ५८ वर्षीय एक महिला हुई है। इस महिला ने दूसरे पति की तलाश में ३१ लाख रुपए गवां दिए और इसे पति भी नहीं मिला।
दहिसर पुलिस स्टेशन में दर्ज एफआईआर के मुताबिक महिला ने कुछ महीने पहले दूसरी शादी करने की इच्छा जताई। इसी सिलसिले में उसने अक्टूबर २०१९ में एक ऑनलाइन शादी की वेबसाइट पर अपनी एक प्रोफाइल बनाई। इसके बाद नवंबर २०१९ में महिला के फोन पर एक अनजान व्यक्ति का व्हॉट्सऐप कॉल आया। फोन पर उसने कहा कि उसे उनकी प्रोफाइल बहुत अच्छी लगी। वह उन्हें बहुत पसंद करता है। महिला ने उससे पूछा कि वह कहां से बोल रहा है? इस पर उसने अपना परिचय देते हुए कहा कि उसका नाम प्रेम बहादुर है और वह लंदन में मरीन इंजीनियर है। इसके बाद दोनों हर रोज व्हॉट्सऐप पर बात करने लगे। ८ दिसंबर को उसने महिला को फिर से फोन किया और कहा कि वह १२ दिसंबर को जहाज से लंदन से ऑस्ट्रेलिया जा रहा है। शिप पर जाने के बाद वह प्रतिदिन महिला को फोन किया करता था। १९ दिसंबर को उसने फिर फोन किया और महिला से कहा कि उसके शिप पर समुद्री लुटेरों ने हमला कर दिया है और कोस्टगार्ड उन लोगों को बचाने के लिए आ गए हैं। कोस्टगार्ड ने उसे अपना कीमती सामान रिश्तेदारों के पास भेज देने के लिए कहा है क्योंकि उसका कोई जान-पहचान वाला नहीं है इसलिए वह सारा सामान महिला को भेज रहा है। महिला इस बात से सहमत हो गई। २३ दिसंबर को महिला को एक फोन आया और सामनेवाले व्यक्ति ने कहा कि वह दिल्ली से बोल रहा है। उसने खुद को कस्टम अधिकारी बताया। उसने महिला से कहा कि किसी प्रेम बहादुर नामक व्यक्ति ने उसके लिए सामान भेजा है। इस सामान को छुड़ाने के लिए उसे ४२ हजार ५०० रुपए भरने पड़ेंगे। महिला ने यह बात प्रेम बहादुर को बताई, उसने रकम भरने के लिए कहा और उसने आश्वासन दिया कि शिप से लौटने के बाद वह उसे पैसे दे देगा। महिला ने बताए गए बैंक खाते में पैसे भेज दिए। इसके बाद हर रोज उस कस्टमवाले का फोन आता रहा और वह किसी न किसी बहाने पैसे मांगता रहा। ऐसा करते हुए महिला ने कुल ३१ लाख रुपए भेज दिए लेकिन कोई सामान नहीं मिला। ठग लिए जाने का अहसास होते ही उसने दहिसर पुलिस का रुख कर मामला दर्ज कराया। घटना की जांच जारी है।